तैनाती वाले गांवों से गायब रहने वाले सफाई कर्मियों पर होगी कार्रवाई : डीएम

Spread the love

अमिट रेखा सत्य प्रकाश यादव
ब्यूरो गोरखपुर
गोरखपुर। स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) तहत के गठित जिला स्वच्छ भारत मिशन मैनेजमेंट कमेटी की बैठक के दौरान डीएम के. विजयेंद्र पांडियन ने निर्देश दिए कि गांव में साफ-सफाई, स्वच्छ शौचालय, शुद्ध पेयजल के साथ ही जल निकासी की समुचित व्यवस्था की जाए। उन्होंने कहा कि अधिकांश बीमारियां जलभराव के कारण होती है। जल निकासी की समुचित व्यवस्था से मच्छरों के पनपने से उत्पन्न होने वाली बीमारियों आदि को नियंत्रित किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि अपने-अपने क्षेत्रों में रहकर अपने दायित्वों का निर्वहन नहीं करने वाले सफाई कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। उन्होंने यह भी कहा कि ग्रामीण सचिवालय में सभी ग्राम स्तरीय कर्मी अपनी उपस्थिति दर्ज करें तथा ग्रामीण समस्याओं का निराकरण वहां बैठकर एक साथ किया जा सकता है। यह अच्छा फोरम साबित होगा तथा जूम के माध्यम से भी लाभार्थियों एवं ग्रामीणों तथा ग्राम स्तरीय कर्मियों से वार्ता की जा सकती है। उन्होंने प्रत्येक ब्लाक में कम से कम एक माडल गांव विकसित करने के निर्देश संबंधित अधिकारी को दिए। इसी तरह डीएम ने ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन के तहत काम कराने तथा जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में निर्मित कराए जा रहे सामुदायिक शौचालयों का थर्ड पार्टी वेरिफिकेशन कराने का निर्देश दिया। बैठक में सीडीओ इंद्रजीत सिंह समेत कई विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

20400cookie-checkतैनाती वाले गांवों से गायब रहने वाले सफाई कर्मियों पर होगी कार्रवाई : डीएम