एसोसिएट प्रोफेसर तीन दिनों से लापता विपश्यना केंद्र पर साधना में लीन पाए गए।

Spread the love


अमिट रेखा / राज पाठक
कसया/कुशीनगर:
कुशीनगर के बुद्ध पीजी कालेज के एसोसिएट प्रोफेसर तीन दिन पूर्व बिना बताए घर से चले गए थे परेशान पत्नी ने पुलिस को दी थी गुमशुदगी की तहरीर पुलिस भी तलाश में जुटी थी इसी बीच उनके एक छात्र से उनके बारे एसोसिएट प्रोफेसर तीन दिनों से लापता विपश्यना केंद्र पर साधना में लीन पाए गए।

     मिली जानकारी के मुताबिक बुद्ध पीजी कालेज में प्राचीन इतिहास, पुरातत्व व संस्कृत विभाग के अध्यक्ष व एसोसिएट प्रोफेसर डा. विरेंद्र कुमार शुक्रवार को मोबाइल घर पर ही छोड़कर निकले तो फिर घर नहीं लौटे। घर के किसी सदस्य को कुछ बताया भी नहीं था। देर रात तक जब वह नहीं लौटे तो परेशान पत्नी कंचन ने कुशीनगर पुलिस चौकी पर तहरीर दी। गुमशुदगी दर्ज कर तलाश में जुटी पुलिस को पत्नी ने बताया कि उनकी बाइक कसया निवासी उनका छात्र आशीष घर लेकर आय था। इस पर पुलिस ने सख्ती से छात्र से पूछताछ की तो उसने बताया कि धुरिया भाठ बनवारी टोला स्थित धम्मकाया विपश्यना साधना केंद्र पर साधना कर रहे हैं। चौकी प्रभारी जगमेंदर कुमार ने बताया कि जब पुलिस टीम पहुंची तो प्रोफेसर साधना शिविर में मिले। वह 27 जुलाई को कार्यक्रम समाप्त होने के बाद घर वापस जाएंगे। पत्नी ने भी उनसे मुलाकात की और संतुष्टि के बाद घर लौट गईं।
69980cookie-checkएसोसिएट प्रोफेसर तीन दिनों से लापता विपश्यना केंद्र पर साधना में लीन पाए गए।