दो ग्राम सभाओं के बीच पोखरे का सुंदरीकरण के नाम पर रहा कोसों दूर

Spread the love

ग्राम प्रधान और आला अधिकारी करते रहे नजरअंदाज

अमिट रेखा
निखिल कुमार कुशवाहा/स्वतंत्र
कसया कुशीनगर

जटा बाजार थाना क्षेत्र के अंतर्गत ग्रामसभा कंठी छपरा व ग्रामसभा पुन्हा बुजुर्ग के बीच गांव सामाजिक पोखरा जो सालों से गंदगी और कूड़े करकट और जंगल झाड़ियों से भरा पड़ा है आने वाला पर्व छठ पूजा मे भी आला अधिकारी ग्राम प्रधान चुप्पी साधे बैठे हैं हर साल की भांति इस साल भी ग्राम सभा के लोग अपने में चंदा इकट्ठा कर पोखरे की सुंधी करण में जुटे हुए हैं मिली जानकारी के मुताबिक विगत कई साल पुराना पोखरा है लेकिन आज तक किसी भी ग्राम प्रधान और किसी भी अधिकारी की नजर इस पोखरे पर नहीं पड़ी स्वच्छ भारत अभियान के तहत पोखरे की सुंदर करण के लिए सरकार ने कई कई बजट आवंटन किए हैं लेकिन ग्राम सभा पूर्णा बुजुर्ग व कंठी छपरा के बीच इस पोखरे पर किसी अधिकारी व किसी ग्राम प्रधान का नजर इसकी सफाई और इसकी सुंदरीकरण के लिए नहीं पड़ा जिसमें ग्राम सभा के लोग निराश होकर अपने में चंदा इकट्ठा कर साफ सफाई वह मिट्टी डालकर छठ पूजा के तैयारी में लगे हुए हैं ग्राम सभा के लोगों के सहयोग से हर साल की भांति इस साल भी साफ-सफाई मिट्टी डालकर वह लाइट डेकोरेट कर छठ पूजा में सजाते हैं इसमें सहयोग करने वाले दीपक कुशवाहा देवेंद्र प्रताप सिंह पवन कुशवाहा विनोद कुशवाहा नागेंद्र कुशवाहा जंगी कुशवाहा मोहित कुशवाहा अवधेश कुशवाहा मोनू कुशवाहा मनोज यादव अनिल पाल और सभी ग्रामीण मौजूद रहे अब देखना है कि आला अधिकारी इस संदर्भ में क्या कहते हैं और इसकी सर सफाई और इसकी सुंदरीकरण के लिए क्या निस्तारण निकलता है

440cookie-checkदो ग्राम सभाओं के बीच पोखरे का सुंदरीकरण के नाम पर रहा कोसों दूर