व्यापक रूप से फैले भ्रष्टाचार के खिलाफ अधिवक्ताओं ने खोला मोर्चा

Spread the love

अमिट रेखा/आर.एन.पांडेय

 तमकुहीराज/कुशीनगर। स्थानीय तहसील के तहसीलदार व नायब तहसीलदार न्यायालय में भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए अधिवक्ताओं ने मोर्चा खोल दिया है। बार संघ तमकुहीराज के अधिवक्ताओं ने न्यायालय परिसर में बैठक कर अधिकारियों पर वादकारियों व अधिवक्ताओं का शोषण करने का आरोप लगाते हुए एक सप्ताह तक न्यायिक कार्य से विरत रहने का निर्णय लिया। उसके बाद युवा अधिवक्ता तहसीलदार न्यायालय के सामने समस्या समाधान की मांग करते हुए अनिश्चित कालीन धरने पर बैठ गए। अधिवक्ताओ ने तहसील प्रशासन को चेतावनी दिया कि समस्या समाधान नही होने तक आंदोलन जारी रहेगा।

तमकुहीराज तहसील में तैनात तहसीलदार व नायब तहसीलदार पर नियम कानून को ताख पर रखकर मनमाना फैसला करने, वादकारियों व अधिवक्ताओ का आर्थिक शोषण करने, अविवादित पत्रावलियों का निस्तारण 6 माह बाद भी नही होने, अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा न्यायिक प्रक्रिया के दौरान वादकारियों से धनदोहन करने आदि का आरोप लगाते हुए बार संघ तमकुहीराज के अधिवक्ताओं ने न्यायालय परिसर में बैठक किया। बैठक में अधिवक्ताओं ने नायब तहसीलदार तरया सुजान सहित अन्य अधिकारियों पर तमाम गम्भीर आरोप लगाते हुए निंदा प्रस्ताव पारित कर एक सप्ताह तक न्यायिक प्रक्रिया से विरत रहने का निर्णय लिया। जिसके बाद युवा अधिवक्ता तहसीलदार न्यायालय के सामने जाकर अधिकारियों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ गए। देर शाम तक अधिवक्ताओं का धरना आंदोलन जारी रहा। इस दौरान अजय राय, अमरनाथ सिंह, दीपक पाण्डेय, संजय गुप्ता, सूर्यनाथ सिंह, आरएन पाण्डेय, मार्कण्डेय वर्मा, दीपक राय, राकेश राय, अखिलेश्वर दुबे, अजय यादव, अखिलेश तिवारी, रजनीश तिवारी, उमेश वर्मा, ऋषिकेश तिवारी, दीपक श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे।

132900cookie-checkव्यापक रूप से फैले भ्रष्टाचार के खिलाफ अधिवक्ताओं ने खोला मोर्चा