टेरर फंडिंग में एटीएस का गोरखपुर में छापा बलदेव प्लाजा के मोबाइल की दुकान में चल रही छानबीन

Spread the love

अमिट रेखा सत्य प्रकाश यादव

ब्यूरो गोरखपुर:- टेरर फंडिंग की जांच कर रही एटीएस टीम ने मंगलवार की सुबह गोरखपुर के गोलघर के बलदेव प्लाजा स्थित मोबाइल की दुकान एंड संस पर छापा मारा। सीओ के नेतृत्व में एटीएस टीम ने सुबह दस बजे से ही दुकान की तलाशी ले रही है। इस दौरान सभी कर्मचारियों को बाहर निकालकर दुकान मालिक से पूछताछ की जा रही है। बता दें कि 2018 में भी एटीएस की टीम ने यहां छापा मारा था। जानकारी के मुताबिक, एटीएस टीम मंगलवार की सुबह बलदेव प्लाजा स्थित नईम एंड संस मोबाइल की दुकान पर पहुंची। इस दौरान दुकान बंद मिला तो दुकान मालिक को बुलाकर दुकान खुलवाया गया। घंटो से छानबीन चल रही है। बता दें कि एटीएस के छापे के बाद से बलदेव प्लाजा में हड़कंप मच गया है। अधिकांश दुकानदारों ने कस्टम टीम के छापे के अंदेशा में अपनी दुकानें बंद कर ली। एहतियात के तौर पर क्राइम ब्रांच और कैंट थाने की पुलिस को भी बलदेव प्लाजा बुलाया गया है। यहां पहले भी मारा गया था छापा
मार्च 2018 में नईम एंड संस पर भारी पुलिस बल ने छापा मारा था। यहां से पाकिस्तानी आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से संपर्क में रहने के आरोप में नईम के दो बेटे नसीम अहमद और नईम अरशद (बॉबी) को गिरफ्तार किया गया था। पहले व्यापारी इसे आयकर या सेल्स टैक्स का छापा समझ रहे थे, मगर उन्हें जब यह पता चला कि दोनों भाइयों के आतंकी संगठन के लिए काम करने की पुष्टि हुई है तो उनमें हड़कंप मच गया था। एटीएस ने दोनों भाइयों से पूरी रात पूछताछ करने के बाद खोराबार के पांडेय टोला निवासी दयानंद यादव को भी गिरफ्तार किया था। दयानंद पर व्यापारी बंधुओं के कहने पर बैंक एकाउंट में रुपये मंगाने का आरोप लगाया गया था। तीनों से पूछताछ के बाद पुलिस ने मोहद्दीपुर में ठेला लगाने वाले बिहार निवासी एक अन्य व्यक्ति को हिरासत में लिया था

18900cookie-checkटेरर फंडिंग में एटीएस का गोरखपुर में छापा बलदेव प्लाजा के मोबाइल की दुकान में चल रही छानबीन