जागरूकता से ही विश्व में एकता व शांति संभव: डॉ0 विनोद यादव

Spread the love

” 20 दिसंबर अंतर्राष्ट्रीय मानव एकता दिवस “

अमिटरेखा-परवेज आलम
हतवा भटनी-देवरिया


बहादुर यादव मेमोरियल स्नातकोत्तर महाविद्यालय नगर पंचायत भटनी देवरिया(उ0 प्र0) के प्राचार्य डॉ0 विनोद यादव ने 20 दिसंबर अंतरराष्ट्रीय मानव एकता दिवस पर बोले कि – विश्व अस्तर पर हर साल 20 दिसंबर को अंतरराष्ट्रीय मानव एकता दिवस मनाया जाता है 22 दिसंबर 2005 को संयुक्त राष्ट्र महासभा के प्रस्ताव 60/209 द्वारा मानव एकता को एकजुटता के मौलिक और सार्वभौमिक अधिकारों के रूप में चयनित किया था
अंतरराष्ट्रीय मानव एकता दिवस वर्ष 20 दिसंबर को पूरे विश्व में मनाया जाता है एकता का संदेश देने के लिए संयुक्त राष्ट्र 20 दिसंबर को अंतरराष्ट्रीय मानव एकता दिवस घोषित किया अंतरराष्ट्रीय मानव एकता दिवस का उद्देश्य लोगों को विविधता में एकता का महत्व बताते हुए जागरूकता फैलाना है दुनिया के विभिन्न देश के दिन अपनी जनता के बीच भाईचारा,प्यार, सौहार्द, और एकता के संदेश का प्रसार करते हैं अंतरराष्ट्रीय मानव एकता दिवस ने भारतीयों को एकता के सूत्र में बांधने की पहल की है यह संस्था हमेशा से देश में शक्ति एकता और भाईचारे की भावना के प्रसार के लिए बढ़-चढ़कर हिस्सा लेती रही है डॉ0 प्राचार्य ने कहा कि विश्व में शांति व एकता के लिए लोगों में जागरूकता जरूरी है आज विश्व एक परिवार के रूप में है विश्व समुदाय को मिलाकर एकता दिवस के महत्व को प्रमाणिकता करना है ताकि विश्व में शांति एकता और भाईचारा कायम रह सके विश्व के अनेक देश इस दिन जनता के बीच शांति भाईचारा, प्यार सौहार्द, वह एकता के संदेश का प्रचार करते हैं आज संपूर्ण विश्व में इसकी अत्यंत जरूरत है

8140cookie-checkजागरूकता से ही विश्व में एकता व शांति संभव: डॉ0 विनोद यादव