July 19, 2024

‘देश-हित’

Spread the love
      'देश-हित'

भारत है सांस्कृतिक देश,यहां पर हिन्दू मुस्लिम एक।
नवयुग का निर्माण होगा,देश- हित मे काम होगा।
अत्याचारो का नाश होगा,निर्बलों के साथ होगा।
जनता हित मे उपवास होगा,दुःख दर्द में पास होगा।
नई नई उड़ान भरेगा,गौरव देश की सम्मान करेगा।
वह सबकी चाह बनेगा,एक बार क्या सौ बार बनेगा।

राजू प्रसाद श्रीवास्तव
प्रदेश प्रभारी

64470cookie-check‘देश-हित’