रामानुजन के जीवन से प्रेरणा लेने की जरूरतः कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह

Spread the love

 मनोज तिवारी ब्यूरो रिपोर्ट अयोध्या

 डाॅ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के बीएससी प्रोग्राम में राष्ट्रीय गणित दिवस के उपलक्ष्य पर भौतिक व इलेक्ट्रॉनिक्स विभाग के सेमिनार हाॅल में आज 22 दिसम्बर, 2020 को एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह ने कहा कि 22 दिसम्बर राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस दिन महान गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन जन्म हुआ था। उनकी उपलब्धियों को सम्मान देने के लिए हम उनकी जयंती मनाते है। शिक्षकों एवं छात्रों से कहा कि रामानुजन के गणित के क्षेत्र में किए गए शोध व उपलब्धियों को भुलाया नही जा सकता है। उनके जीवन व कार्यों से प्रेरणा लेने का आवाहन किया। इसके साथ ही कुलपति ने विश्वविद्यालय की शैक्षिक गतिविधियों को बढ़ावा देने पर बल दिया।इसी क्रम में विश्वविद्यालय के पूर्व प्रति कुलपति प्रो0 एसएन शुक्ल ने भारत की विज्ञानं आधारित  प्राचीन परम्पराओं और गणित के क्षेत्र में आधारभूत उपलब्धियों से अवगत कराया। इसके साथ ही उन्होंने सभी छात्रों को रामानुजन की महान उपलब्धियों पर गौरवान्वित होने के लिए प्रेरित किया।  विभागाध्यक्ष प्रो0 अनुपम श्रीवास्तव ने रामानुजन के जीवन संघर्ष व सीमित संसाधनों के बीच विश्व स्तर पर गणित के क्षेत्र में किये गए अभूतपूर्व कार्यों पर प्रकाश डाला व छात्रों को प्रेरणा प्रदान की। बी0एस0सी प्रोग्राम के समन्वयक प्रो0 के0के0 वर्मा ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी आगंतुकों का स्वागत किया। उन्होंने बताया कि कुलपति प्रो0 सिंह के निर्देशन में कार्यक्रम किया जा रहा है। इस अवसर विभिन्न प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें कुलपति प्रो0 सिंह द्वारा छात्रों को पुरस्कृत किया गया।कार्यक्रम का प्रारम्भ माॅ सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण व दीप प्रज्ज्वलन के साथ की गई।   कार्यक्रम का संचालन गणित विषय के शिक्षक डॉ0 संजीव कुमार सिंह द्वारा किया गया।  कार्यक्रम के अंत में अतिथियों के प्रति धन्यवाद ज्ञापन विभाग के शिक्षक डॉ0 अश्विनी कुमार द्वारा किया गया। इस अवसर पर प्रो0 आर के तिवारी, प्रो0 एस आर विश्वकर्मा, डॉ0 सिंधु सिंह, डॉ0 गीतिका श्रीवास्तव, डॉ0 अनिल कुमार, डॉ0 जीतेन्द्र श्रीवास्तव, डॉ0 ज्ञानेश्वर कुमार गुप्ता, इंजीनियर निधि अस्थाना, इंजीनियर रजत चैरसिया, डॉ0 अरविन्द बाजपेयी, डॉ0 संजीव श्रीवास्तव सहित बीएससी के समस्त छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

वेबसाइट पर प्रकाशित सभी लेख अयोध्या बोलती है़ के लेखकों के द्वारा लिखे गए है जिनका सर्वाधिकार वेबसाइट की प्रबंध समिति के पास सुरक्षित है बिना लिखित अनुमति के वेबसाइट पर मौजूद लेख, फोटो या अन्य सामग्रियों को किसी भी स्वरुप में (प्रिंटिंग या सोशल मीडिया )प्रकाशित , प्रसारित या वितरित करना गैर कानूनी है , प्रतिलिप्यधिकार अधिनियम 1957 तहत ऐसा करना दंडनीय है !

10360cookie-checkरामानुजन के जीवन से प्रेरणा लेने की जरूरतः कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह