लिखित आश्वासन पर जूस पिलाकर तोड़ा गया महिला का अनशन

Spread the love

अमिट रेखा अजय तिवारी नेबुआ नौरंगिया कुशीनगर 

नेबुआ नौरंगिया थानाक्षेत्र के एक गांव में आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु आमरण अनशन पर नाबालिक दुष्कर्म पीड़िता के कुंनवे का कर रहे अनशन के दूसरे दिन सोमवार को पहुचे उच्चाधिकारियों ने दोषियों के गिरफ्तारी का लिखित आश्वासन देते हुवे उसे जूस पिलाकर अनशन समाप्त करवाया। हालाकि मौके पर पहुचे जिम्मेदारो द्वारा अनशनकारी परिवार को दिया गया लिखित आश्वासन पत्र क्षेत्र में चर्चा का बिषय बना हुआ है, क्योकि जिम्मेदार उक्त आश्वाशन पत्र में दुष्कर्म के आरोपी को हत्या का आरोपी बता रहे है।
उक्त एक गांव निवासिनी नाबालिक के साथ बीते 3अगस्त को दुष्कर्म का मामला सामने आया था। इस प्रकरण में पुलिस ने मुकदमा पंजीकृत कर विवेचना शुरू कर दी थी। पीड़िता की माँ का आरोप है कि मुकदमे के विवेचक उक्त मामले के कुछ आरोपियों से मिलकर उन्हें बचाने का प्रयास कर रहे हैं। जिसको लेकर पीड़िता की माँ ने जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक से लगायत पुलिस महानिदेशक को प्रार्थना पत्र सौपकर विवेचक बदलने तथा अन्य आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी के लिए गुहार लगाई, लेकिन जिम्मेदारों से कोई सकारात्मक परिणाम न मिलता देख वह अपने पूरे कुनबे के साथ 17 सितंबर को सुबह दस बजे के करीब अपने दरवाजे ओर ही आमरण अनशन पर बैठ गई।पहले दिन नेबुआ नौरंगिया एसओ अतुल श्रीवास्तव अनशन समाप्त कराने का काफी प्रयास किए लेकिन बात नहीं बनी। दूसरे दिन नायब तहसीलदार, सीओ खड्डा और एसओ अपनी पूरी टीम के साथ मौके पर जाकर दुष्कर्म पीड़िता के परिवार की मांग पर अन्य आरोपियों का एक सप्ताह के भीतर गिरफ्तारी का आश्वासन देकर अनशन तोड़वाया। इस दौरान उनके द्वारा अनशनकारी परिवार को दिया गया लिखित आश्वाशन पत्र क्षेत्र में चर्चा का बिषय बना हुआ है, हालाकि जिम्मेदार इसे महज एक भूल करार दे रहे है।

148760cookie-checkलिखित आश्वासन पर जूस पिलाकर तोड़ा गया महिला का अनशन