कुदरत का अद्धभुत नजारा या ताऊते का असर

Spread the love

अमिट रेखा दिनेश गुप्ता
तहसील प्रभारी

देवरिया भटनी..

आमतौर पर ठण्डी के मौसम में नवंबर से मार्च तक ओस पड़ते देखा है लेकिन आज सुबह दिन शनिवार मई के महीनों में कुदरत का अदभूत नजारा देखने को मिला।इसे कुदरत की देन या ताऊते का असर कहा जाए।आपको बता दे कि देश की पश्चिमी तट को दहलने वाले तूफान कई शहरों में तबाही का मंजर के साथ रिकॉर्ड बारिश हुई ।बरसात के चलते तापमान 16 डिग्री से कम रहा जो 70 साल में सबसे कम है।इसे मौसम विभाग ने वर्ष 1951से मौजूद आंकड़े बताते है कि मई के महीनों में सबसे कम अधिकतम तापमान है ।इसे चक्रवर्ती तूफान का असर या कुदरत का अद्दभुत नजारा कहा जाए ।

62260cookie-checkकुदरत का अद्धभुत नजारा या ताऊते का असर