फरेंदा में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बनकटी का कमिश्नर ने किया औचक निरीक्षण

Spread the love

 

सुनील पांडेय
ब्यूरो महराजगंज मंडल प्रभारी

मंडलायुक्त से अधीक्षक ने लगाई चार्ज मुक्त करने की गुहार

स्वतंत्रता दिवस के झंडारोहण पर अधीक्षक उमेश चंद्रा को अनुपस्थिति को लेकर दिए जांच के आदेश
नगर पंचायत आनंद नगर के अधिशासी अधिकारी को भी लगाई फटकार

रविवार छुट्टी के दिन भी उपस्थिति पंजिका में कर्मचारियों का है हस्ताक्षर

फार्मासिस्ट को कुत्ते की सुई लगने वाली दूसरी डोज के लिए दूरभाष पर मरीज को बुलाने का आदेश दिए और रजिस्टर मेंटेन करने के लिए भी बोले मंडला आयुक्त

कोरोना महामारी को लेकर पूरा प्रदेश हाई अलर्ट पर है कहीं भी कोई लापरवाही न बरतें पूरी सक्रियता से कार्य का निर्देश है। लेकिन इसी बीच गोरखपुर मंडलायुक्त रविंद्र कुमार एनजी ने सोमवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बनकटी का औचक निरीक्षण किया जहां पूरे सिस्टम की ही पोल खुल गई। इस दौरान मिली तमाम शिकायतों की जांच कराकर उस पर कार्रवाई कराने का भरोसा दिया। मंडलायुक्त के अचानक पहुंचते ही वहां पर मौजूद डाक्टरों व कर्मियों में हड़कंप मच गया कमिश्नर ने वहां पर पहुंचते ही साफ सफाई का जायजा लिया और नवनिर्मित ऑक्सीजन प्लांट का निरीक्षण किया। उसके बाद में वैक्सीनेशन सेंटर को देखते हुए उन्होंने सीधे एंटी रेबीज इंजेक्शन का डिटेल्स जाना। इसके बाद मंडलायुक्त ने अटेंडेंस रजिस्टर की भी जांच की। अटेंडेंस रजिस्टर में मिली कमियों को देखते हुए मंडलायुक्त अपने साथ रजिस्टर को ले गए और आयुष्मान भारत कार्ड का रजिस्टर उपलब्ध न होने पर काफी नाराजगी जताई तथा संबंधित अधिकारियों एवं अधीक्षक को फटकार भी लगाया। कमिश्नर ने मरीजों के वार्ड के भी हालात का जायजा लिया इस दौरान कई जगह कमियां मिली जिसको जल्द ठीक कराने का निर्देश दिया। मरीजों से उनके मिलने वाली सुविधाओं के बारे में भी मंडलायुक्त ने पूछताछ की। मंडलायुक्त ने अपने निरीक्षण में पैथोलॉजी कक्ष पहुंचे, जहां पहले से वहां पानी भरा हुआ था। मंडलायुक्त ने लैब टेक्नीशियन को फटकार लगाते हुए चेतावनी दी। निरीक्षण के दौरान दलालों की सक्रियता व बाहर से दवा लिखने की शिकायत पर उन्होंने जांच कर कार्रवाई का भरोसा दिया अस्पताल में मौजूद दवा स्टॉक में भी मेंटेनेंस को लेकर असंतोष जताया और उसके बारे में सारी डिटेल को तलब किया। साथ ही इन सभी कमियों को समय से दूर न करने तथा समय-समय पर मॉनिटरिंग न करने पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं अधीक्षक का एक हफ्ते का वेतन रोकने का आदेश दिया। वही पत्रकारों से बातचीत करते हुए मंडलायुक्त ने बताया कि जो भी कमियां है जल्द से जल्द दूर कर लिया जाएगा और समय से अगर कमियों को दूर नहीं किया गया तो बड़ी कार्रवाई की जाएगी। मंडलायुक्त ने एक सप्ताह का समय देते हुए कहा कि जो भी कमियां हैं सबको दूर कर दिया जाए और अस्पताल के सभी कर्मचारियों को अपने अपने काम को करने का निर्देश दिये। वही मंडलायुक्त ने अस्पताल में गंदगी पाए जाने पर अधिशासी अभियंता नगर पंचायत आनंद नगर को भी फटकार लगाया। इस अवसर पर सीडीओ गौरव सिंह सोगरवाल, मुख्य चिकित्सा अधिकारी एके श्रीवास्तव, उप जिलाधिकारी फरेंदा अभय गुप्ता, पुलिस क्षेत्राधिकारी सुनील दत्त दुबे सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

93910cookie-checkफरेंदा में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बनकटी का कमिश्नर ने किया औचक निरीक्षण