देवरिया में कब होगा अबैध पत्रकार समितियों का पर्दाफास , सड़क छाप मजनू बन गए पत्रकार- अखबार व चैनल सहित सूचना कार्यालय विभाग से कोषों दूर-

Spread the love

देवरिया में कब होगा अबैध पत्रकार समितियों का पर्दाफास , सड़क छाप मजनू बन गए पत्रकार-
अखबार व चैनल सहित सूचना कार्यालय विभाग से कोषों दूर-
अमिट रेखा ब्यूरो देवरिया/ लखनऊ
उत्तर प्रदेश का जनपद देवरिया आज कल सुर्खियां बिटोरने में लगा हुआ है। यहां अधिकारियों की नजर बन्द पड़ी हुई है। यह देखकर भी की पत्रकारों का फर्जी समूह इकठ्ठा होकर सुरु से ही ज्ञापन पर ज्ञापन देने का कार्य समय समय पर करते रहे है । अधिकारियों को विवश कर के मुकदमा में हेर – फेर करते रहे है। बतादे की ऐसे पत्रकारों की कोई चैनल व अखबार से नाता रिस्ता तक नही है यहां तक की सूचना विभाग में भी ऐसे सड़क छाप पत्रकारों का नाम तक दर्ज नही है। सूत्रों का कहना है कि जनपद देवरिया में अबैध पत्रकारों की अबैध समितियां चलाई जा रही है , किसी भी सड़क छाप ब्यक्ति को पकड़ कर 500 रुपये चार्ज लेकर समिति की आईडी कार्ड बनाने का कार्य चरम पर चल रहा है। वही समय समय पर सही पत्रकारों को समिति से हटाने का कार्य भी हो रहे है। जो सही पत्रकार है वे नामनेट सूचना विभाग से संलग्न है और जब उन्हें यह पता चल रहा है कि यह समिति सिर्फ जेब भरने का कार्य कर रही है तो आवाज उठाने पर उनको तेजी से हटाने का कार्य भी समिति से हो रही है। साजिस के तौर पर बातों को रिकार्ड करके सही आवाज उठाने वाले पत्रकारों को नियम व कानून बताये जा रहे है। हालांकि सूचना विभाग व अखबार से जो पूर्णतः संलग्न है उनको समिति में बुलाकर बड़े पद से नवाजा जा रहा है एवं उनके छब्बी पर सड़क छाप पत्रकारों को अपने टीम में शामिल किया जा रहा है। नीचे से लेकर ऊपर तक या कहे तो राष्ट्रीय स्तर तक अबैध पैसा कमाने का कार्य तेजी से चल रहा है। जो कि आज जनपद देवरिया में एक जाँच विषय बनता जा रहा है।

45020cookie-checkदेवरिया में कब होगा अबैध पत्रकार समितियों का पर्दाफास , सड़क छाप मजनू बन गए पत्रकार- अखबार व चैनल सहित सूचना कार्यालय विभाग से कोषों दूर-