अंततः 18 घंटे बाद भारत का शव परिजन ले गए अंतिम संस्कार पर

Spread the love

प्रतापगढ़ ब्यूरो।

आसपुर देवसरा थाना क्षेत्र के डाही गांव में बीते 72 घंटे से प्रशासन और ग्रामीणों के बीच भारत के शव को लेकर चल रही जद्दोजहद ग्राम प्रधान व उनके प्रतिनिधि की दखल से सुलझ गई। पीएम के बाद 18 घंटे तक शव दरवाजे पर रखकर विवादित जमीन में शव दफनाने पर अड़े परिजन अंततः भारत का अंतिम संस्कार करने पर राजी हुए और इब्राहिमपुर घाट के लिए रवाना हुए। भारत का शव अंतिम संस्कार के लिए रवाना हुआ तो प्रशासन ने राहत की सांस ली। डाही गांव निवासी भारत हरिजन उम्र 40 वर्ष का शव संदिग्ध परिस्थितियों में तालाब किनारे मिला था। मृतक भारत की पत्नी समेत परिवारी जन जमीनी विवाद को लेकर पड़ोसियों पर हत्या का आरोप लगाने लगे। ग्रामीणों के बवाल पर पुलिस ने मृतक की पत्नी मीरा की तहरीर पर 3 लोगों के विरुद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज कर दो लोगों को हिरासत में लिया था। बीते शुक्रवार की शाम पीएम के बाद शव गांव पहुंचा तो परिजन विवादित जमीन में ही शव दफनाने की बात को लेकर अड़ गए | प्रशासन ने उनकी मांगे स्वीकार करने की बात कही। जिस पर परिवारी जनों द्वारा एसडीएम को पांच सूत्रीय ज्ञापन जिसमें 25 लाख रुपए मुआवजा, शस्त्र लाइसेंस, आवास के लिए जमीन पट्टा, मृतक की विधवा को सरकारी नौकरी समेत अन्य मांगों का ज्ञापन एसडीएम द्वारा लिया गया। मौके पर एसडीएम धीरेंद्र प्रताप सिंह तथा क्षेत्राधिकारी दिलीप सिंह ने परिजनों को शासन स्तर पर उनकी बात पहुंचाने तथा आवश्यक मदद दिलाने का आश्वासन भी दिया। बावजूद उसके परिजन अंतिम संस्कार करने के लिए राजी नहीं हो रहे थे और शव दरवाजे पर पड़ा था। अंततः ग्राम प्रधान प्रतिनिधि नंद लाल यादव के दखल पर परिजन राजी हुए और दोपहर 1 बजे के करीब भारत का शव अंतिम संस्कार के लिए लेकर रवाना हुए जिसके बाद प्रशासन ने राहत की सांस ली।

67610cookie-checkअंततः 18 घंटे बाद भारत का शव परिजन ले गए अंतिम संस्कार पर