Spread the love

कलेक्ट्रेट कार्यालय कक्ष में प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा की बैठक करते जिलाधिकारी

अमिट रेखा सुनील पांडेय
ब्यूरो महराजगंज

महराजगंज 10फरवरी 2021,जिलाधिकारी डा0उज्ज्वल कुमार द्वारा प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना के अन्तर्गत मत्स्य उत्पादन एंव उत्पादकता को बढाने हेतु संचालित योजना के तहत कृषको की आय दोगुनी करने में केन्द्र सरकार द्वारा पोषित को लाभान्वित किया जाना है । इसके अन्तर्गत संचालित सभी योजनाओ में सामान्य,मछुआ एंव अन्य पिछडा वर्ग को 40 प्रतिशत तथा अनुसूचित जाति व महिला लाभार्थी को 60 प्रतिशत अनुदान दिया जाना है । शेष अंश लाभार्थी द्वारा स्वंय अपने संसाधन अथवा बैंक ऋण के माध्यम से किया जाना होगा । जिसमें निजी भूमि में तालाब निमार्ण में प्रति हे0 7 लाख,तालाब निर्मित तालाब में प्रथम वर्ष निवेश में 4 लाख, मत्स्य हेचरी में 25 लाख,फिशसीड रियरिंग यूनिट स्थापना 7 लाख,बृहद रिसकुर्लेटरी एक्वाखल्चर सिस्टम 50लाख,मध्यकार रिसर्कुलेकरी एक्वाकल्चर सिस्टम 25 लाख,बायोफ्लाक की स्थापना में 14लाख,लघु फिड मिल में 30लाख,जिंदा मछली विक्रय केन्द्र 20 लाख,कियोस्क निमार्ण में लाख तथा पैन स्थापना में 3 लाख की लागत में सामान्य जाति को 40 तथा अनुसूचित व महिला को 60 प्रतिशत का अनुदान दिये जाने का प्राविधान है । मोटर साईकिल विथ आईस बाक्स द्वारा लाभार्थी के पास जाकर उन्हे प्रोत्साहन व मत्स्य पालन में समुचित सहायतार्थ करने की भी योजना है । जिलाधिकारी ने कहा कि यह एक महत्वपूर्ण योजना है तथा खाद्य पदार्थो का उच्चतम उत्पादन करने में संसाधन कम है । ऐसे में इसके उपयोग और गरीबी में जीवन यापन व ब्यक्तियों का सामाजिक एंव आर्थिक उत्थान में अच्छा सहयोगी है । मछली उत्तम प्रोटीन युक्त पौष्टिक आहार है जिससे कुपोषण से बचाव,मस्तिष्क विकास,शारीरिक क्षमता में अच्छा बिकल्प भी है ।उन्होने कहा कि किसान इस योजना को अपनायें व आर्थिक,सामाजिक ब्यक्तित्व को बढाये ।
उक्त अवसर पर सहायक निदेशक मत्स्त्य ए0के0शुक्ला,जिला कृषि अधिकारी बीरेन्द्र कुमार,आधिशासी अभियन्ता सिंचाई प्रथम रविरंजन कुमार,कृषि वैज्ञानिक बसुली त्रिवेणी तिवारी,मत्स्य विकास राहुल कुमार चौरसिया,रामदवर मत्स्य निरिक्षक, मछली प्रगतिशील किसान गंगासागर उपस्थित रहे ।

40160cookie-check