July 16, 2024

युवा समाजसेवी की लोकप्रियता से घबराए विरोधी,छवि को धूमिल करने का कर रहे प्रयास

Spread the love

अमिट रेखा सुनील पांडेय
ब्यूरो महराजगंज

•विरोधियों द्वारा फेसबुक पोस्ट के माध्यम से मामले को दिया जा रहा है सांप्रदायिक मोड़

•विरोधियों को हजम नहीं हो रहा है एक युवा का जिला पंचायत सदस्य बनना

महराजगंज ।
जनपद महाराजगंज के कोठी भार थाना क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम सभा कटहरी निवासी ऐनुल अंसारी पुत्र अख्तर के द्वारा सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर हिन्दू धर्म व उससे मानने वालो लोगो पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोप में कोठीभार पुलिस ने मुकदमा अपराध संख्या 79/2021 अंतर्गत धारा 504 ,505(2) (दो पक्षो के बीच सम्प्रदायिक दंगा कराने) आईपीसी व 67(A) (शोशल मीडिया के माध्यम से अभद्र टिप्पणी) और आईटी एक्ट के गम्भीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।
जानकारी के लिए बता दें कि क्षेत्र के युवा समाजसेवी सद्दाम खान इस बार बिना किसी राजनीतिक बैकग्राउंड के पहली बार में ही जिला पंचायत सदस्य निर्वाचित हुए हैं उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी भाजपा प्रत्याशी को 2501 वोटों से हराया है विरोधियों को यह बात हजम नहीं हो रही है।
आजकल समाज में जिस तरह की प्रवृत्ति चल रहे हैं खास करके युवा वर्ग में किसी भी मामले को हिंदू मुस्लिम का नाम देकर सामाजिक सौहार्द बिगड़ने का काम किया जा रहा है इसी के फलस्वरूप मामले को हिंदू मुस्लिम का ट्रायंगल देकर युवा समाजसेवी के समर्थन में पोस्ट को वायरल किया जा रहा है। जिसमें ऐनुल अंसारी के फेसबुक वॉल के माध्यम से “अकबर की रखैल हिन्दू की बेटी थी और भी उदाहरण है जैसे अलाउदीन खिलजी , औरगजेब”, सालो 16 हिन्दू प्रत्याशियो को हराकर हमारे भइया सद्दाम को नहीं हरा पाये, इसे कहते है मुस्लिम एकता जैसे सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने वाले पोस्ट होते रहे हैं। व मामला भडकने के बाद पोस्ट इसके द्वारा डिलिट कर दिया जाता था। इसके इस कृत्य से क्षेत्र में साम्प्रदायिक विवाद की स्थिति उत्पन्न हो रही थी। सवाल यह भी उठता है कि अगर इस तरह के पोस्ट पिछले 1 साल से किए जा रहे थे तो अब तक किसी व्यक्ति या संगठन द्वारा मामले पर कोई शिकायत या कार्रवाई क्यों नहीं की गई। इस बात से सीधा इशारा होता है कि एक युवा नेता की छवि को धूमिल करने के लिए उनके विरोधियों द्वारा ही मामले को हिंदू मुस्लिम का नाम दिया जा रहा है क्योंकि जीतने वाला प्रत्याशी एक युवा समाजसेवी होने के साथ-साथ अल्पसंख्यक समुदाय से ताल्लुक रखता है। इस मामले पर जब हमारे संवाददाता ने थानाध्यक्ष कोठीभार धनवीर सिंह से संपर्क किया तो उन्होंने बताया कि मामला उनके संज्ञान में है, शिकायत के आधार पर प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है तथा मामले की जांच की जा रही है व आईटी सेल के विशेषज्ञों द्वारा आरोपी के फेसबुक अकाउंट को खंगाला जा रहा है जिसके विस्तृत रिपोर्ट 7 दिनों के बाद चार्टशीट में ऐड कर दी जाएगी।

62290cookie-checkयुवा समाजसेवी की लोकप्रियता से घबराए विरोधी,छवि को धूमिल करने का कर रहे प्रयास