उच्चाधिकारी ले संज्ञान में , समाजसेवीयो की कही सोची- समझी चाल तो नही? सरकार व प्रशासन से आँख मिचौली का खेल जारी- सूत्र

Spread the love


अमिट रेखा देवरिया ब्यूरो।
जनपद देवरिया के थाना क्षेत्रों में आज समाजसेवियों की बाढ़ आ गयी है । कोरोना काल से लेकर अब तक समाजसेवियों के द्वारा अथर्क प्रयास कर के गाँव गाँव कपड़ा रुपये भोजन मास्क राशन व कई शादियों सहित खेल जगह तक मदद की गई है। इस बीच जनता ऐसे समजसेवियो को भगवान का दर्जा भी दे रखी है। जनता के बीच एक नेक और ईमानदार छब्बी के रूप में कई समाजसेवी उभर भी रहे है। जनता इनकी वाह-वाही भी खूब कर रही है। परन्तु इसी बीच सूत्रों के द्वारा बताया जा रहा है कि कुछ ऐसे समाजसेवी भी जनपद में है जो अपने बर- बचाव में सरकार और प्रशासन की आखों में धूल झोकर कर टेक्स की चोरी भी कर रहे है। समाज सेवा के नाम पर लाखो रुपये खर्च करके सरकार को करोड़ो रुपये समाजसेवा के नाम पर खर्च भी बता रहे है। हालांकि यह कार्य सिर्फ अपने को सरकार से बचाव के लिए ही ये समाज के बीच आ रहे है आगे बताया जा रहा है कि अरबो में खेलने वाले आज टेक्स की चोरी जबरजस्त तरीके से कर रहे है। यही नही कम रुपये जनपद ब्लाक में खर्च कर के ऐसे समाजसेवी अपने को मंत्री और संसाद से भी कम नही समझ रहे है। सूत्रों का कहना है कि ऐसे समाजसेवी जनता के बीच रुपये खर्च करके किसी न किसी पार्टी को भी मजबूत करने का कार्य कर रहे है बतादे की समय रहते अगर यह समाजसेवी चुनावी मैदान में उतर जाए तो कई मंत्री और विधायक भी इनसे पीछे छूट जाएंगे। एक नया चेहरे के साथ समाजसेवा के नाम पर वोट बैंकिंग का कार्य खूब चल रहा है। अगर यह कार्य इसी प्रकार चलता रहा तो आने वाले चुनाव में जनता रुपये पर ही अपना कीमती वोट देने बूथ पर पहुचेगी जो देश के लिए खतरा साबित अवश्य होगा।

18140cookie-checkउच्चाधिकारी ले संज्ञान में , समाजसेवीयो की कही सोची- समझी चाल तो नही? सरकार व प्रशासन से आँख मिचौली का खेल जारी- सूत्र