स्कूटी से जा रही युवती को जबरन रोककर कार में खींचने की कोशिश, सिपाही निलंबित

Spread the love

अमिट रेखा गोरखपुर
सत्य प्रकाश यादव

गोरखपुर के कैंट इलाके के हाईवे पर सुमित ढाबे के पास सोमवार देर शाम मनीष द्विवेदी नाम के युवक ने दोस्तों के साथ मिलकर स्कूटी से जा रही युवती को रोककर जबरन कार में खींचने की कोशिश की। सूचना पर पहुंचे सिपाही ने भी आरोपी से दोस्ती की वजह से युवती से अभद्रता की। मामले की जानकारी मिलते ही एसएसपी जोगेंद्र कुमार ने सिपाही मिथलेश को निलंबित कर दिया और जांच की जिम्मेदारी सीओ कैंट को सौंप दी है।जानकारी के मुताबिक, तारामंडल इलाके की रहने वाली युवती पैडलेगंज के पास स्थित एक निजी फर्म में काम करती है। देर शाम वह ऑफिस से घर जाने के लिए स्कूटी से निकली थी। हाईवे पर सुमित ढाबा के पास जगन्नाथपुर निवासी मनीष द्विवेदी अपने साथियों के साथ खड़ा था।आरोप है कि मनीष ने युवती को जबरन रोक लिया और खींचकर कार में बैठाने लगा। युवती के शोर मचाने पर उधर से गुजर रहे उसके ऑफिस के दो युवक रुक गए और बीच बचाव करने लगे। इसी बीच पास में ड्यूटी कर रहा एक होमगार्ड मौके पर पहुंच गया और मामले की जानकारी पुलिस को दी।आरोप है पीआरवी के सिपाही मिथलेश ने मौके पर पहुंचते ही आरोपी युवक से हाथ मिलाते हए उसका हालचाल पूछा। इसके बाद युवती से अभद्रता की। इससे नाराज लोग सिपाही से उलझ गए। मामले की जानकारी मिलते ही कैंट इंस्पेक्टर भी फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। बाद में मामले की जानकारी आला अफसरों को हो गई और तत्काल मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया।
पुलिस ने युवती की तहरीर पर मनीष द्विवेदी व अज्ञात पर छेड़खानी, जबरन रोकने की धारा में केस दर्ज किया है। आरोपी के हिरासत में होने के कारण उसका पक्ष नहीं मिल पाया। कैंट इंस्पेक्टर अनिल उपाध्याय ने बताया कि तहरीर के आधार पर केस दर्ज किया गया है। जांच की जा रही है।आरोपी युवक की पहचान युवती के साथ काम करने वाले युवक ने कर ली थी। बताया जा रहा है कि वह रिटायर कस्टम कमिश्नर का बेटा है, लेकिन पिता की काफी पहले मौत हो चुकी है।

7280cookie-checkस्कूटी से जा रही युवती को जबरन रोककर कार में खींचने की कोशिश, सिपाही निलंबित