शिक्षक समाज के लिए प्रेरणास्रोत हैं लाल बहादुर जी

Spread the love

अमिट रेखा ब्यूरो रिपोर्ट ताहिर हुसैन हरदोई ,

मनोज बोस बी ई ओ कछौना
हरदोई- कहते हैं कि हीरे की परख जौहरी ही जनता है।औऱ मेहनत करने वाले का सम्मान हर जगह होता है।आज हम आपको एक ऐसे शिक्षक के बारे में बताने जा रहे हैं।जिन्होंने विषम परिस्थितियों में बिना किसी संसाधन के व बिना किसी सरकारी अतिरिक्त अनुदान के उस विद्यालय को विद्या मन्दिर बना दिया । विद्यालय के प्रधानाध्यापक लालबहादुर गौतम ने बताया जो विद्यालय वर्ष 2010 से पहले मवेशियों के लिए चरागाह, शराबियों व जुआरियों का अड्डा हुआ करता था।स्कूल में शिक्षा का कोई माहौल नहीं था।गाँव में कुछ लोग बहुत ही उद्दण्ड प्रवृत्ति के थे जो अकसर शराब पीकर स्कूल में आ जाते थे।बाउंड्रीवाल विहीन स्कूल होने के कारण जानवरों व गाँव के लोगों का कब्जा रहता था।चारों तरफ गोबर के ढेर लगे रहते थे।लेकिन मुझे आज तक न तो कभी पुलिस की जरूरत पड़ी, न किसी अधिकारी की मैने घर-घर जाकर अभिभावकों को शिक्षा के महत्व को समझाने का अभियान चलाया औऱ मैने ठान लिया था कि हम स्कूल की इस दशा को जरूर बदलेंगें संघर्ष कितना भी करना पड़े परिस्थितयाँ कैसी भी रहे बच्चों को हर स्थिति में पढ़ाने का जो संकल्प किया उस संकल्प को समुदाय औऱ अपने शिक्षक साथियों के सहयोग से पूरा किया।बच्चों को कॉपी,पेन से लेकर हर सम्भव मदद की जो उन्हें जरूरत होती थी, उनको अच्छा माहौल, साफ सफाई, नियमित विद्यालय आना,जो नहीं आता था घर से बुलाकर लाना बच्चों की पढ़ाई के लिए हर प्रकार की कोशिश की औऱ अभी जारी है।जो विद्यालय कभी न्याय पंचायत स्तर की श्रेणी तक मे नहीं पहुंचा उसे आज समुदाय के सहयोग से अपने शिक्षक साथियों की कड़ी मेहनत से हर बाधाओं को तोड़कर विद्यालय के नाम हर रिकॉर्ड को स्थापित किया।चांहे बच्चों का नामांकन हो,उपस्थित हो, शैक्षिक स्तर हो सांस्कृतिक कार्यक्रम हो,खेल कूद,प्रतियोगिता हो समय समय पर अधिकारियों द्वारा निरीक्षण हो ।अधिकारियों ने विद्यालय की टीम के द्वारा किए गए अथक प्रयासों की सराहना की।
इन सबके जो मुख्य प्रयास किए गए।उनमें निरन्तर नामांकन वृद्धि
90 से 95 प्रतिशत तक उपस्थिति
शैक्षिक स्तर उच्च कोटि का
विभिन्न प्रतियोगिताओं में बच्चों द्वारा बेहतर प्रदर्शन
समुदाय का हर स्तर पर सहयोग
आकर्षक विद्यालय भवन
हरा भरा विद्यालय परिसर
औऱ विद्यालय टीम का समर्पण भाव आदि सब की बजह से मेरे स्कूल ने ब्लॉक से लेकर जिला औऱ प्रदेश तक नया कीर्तिमान स्थापित किया है।व्यक्ति का जुनून, समर्पण, सब कुछ बदल सकता है।प्राथमिक विद्यालय म्योनी इसका सबसे बड़ा उदाहरण है।इस अवसर पर राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त खण्ड शिक्षा अधिकारी श्री मनोज बोस जी ने शाल ओढ़ाकर सम्मानित किया।उक्त कार्यक्रम मे ब्लॉक के कुछ प्रवीण कुमार सतीश यादव श्रवण कुमार कनोजिया प्रशांत जायसवाल स्वेता विश्व कर्मा सीमा चंद्रकेश यादव अमिता वैशय आदि शिक्षक उपस्थित रहे।

20710cookie-checkशिक्षक समाज के लिए प्रेरणास्रोत हैं लाल बहादुर जी