July 23, 2024

पानी के लिए तरसते लोग ,हाथी दाँत बना पानी की टंकी

Spread the love

अमिट रेखा /मोतीलाल यादव/पडरौना कुशीनगर

कुशीनगर. जल ही जीवन है का स्लोगन क्षेत्रीय लोगो को मुँह चिढ़ाता दिख रहा है। शुद्ध पानी उपलब्ध कराने के लिए गाँव मे ख़डी पानी की टंकी बेकार साबित हो रही है।गर्मी की दमक महसूस की जा रही है लेकिन पानी का मुकम्मल इंतजाम न होने से लोग परेशान है। बिभाग की लापरवाही का आलम यह है की लगभग आठ साल पहले टंकी बनकर तैयार हो गई लेकिन आज तक लोगो को शुद्ध पानी तो दूर पानी देखने को नहीं मिला ,पानी के लिए तरसते लोग ,हाथी दाँत बना पानी की टंकी । लोग छोटे छोटे हैंडपम्प का दूषित जल पिने को मजबूर है ।
मिलि जानकारी के मुताबिक विकास खंड पडरौना अन्तर्गत ग्राम पंचायत होरलापुर, कसिया देवरिया टोला मे ग्रामीणो को शुद्ध पानी उपलब्ध कराने के लिए जल निगम बिभाग ने करोड़ो की लागत से टंकी का निर्माण कराया और जलपूर्ति के लिए गाँव के अंदर पाइप लाइन को बिछवा दिया लेकिन निर्मित टंकी को शुरू नहीं किया गया जिससे लोग शुद्ध जल के लिए तरस रहे है जनता अधिकारिओ से बात करना चाहती है तो मोबाईल स्विच ऑफ़ बताता है । टंकी सफ़ेद हाथी बनकर रह गई है. ठीकदार पैसा लेकर फरार और बिभाग को कमीशन मिल गया टंकी चले या न चले बिभाग को क्या मतलब अब दूसरे ग्राम सभा मे टंकी लगाने के चक्कर मे है। जिस ग्राम सभा मे लगा है वहां लोग पानी के लिए तरस रहे है ।ग्रामीणों का कहना है की विभाग के लोग कभी भूल कर भी देखने नहीं आते है