July 15, 2024

नवविवाहिता का गला रेतकर सड़क पर फेंका, कई घंटे दर्द से तड़पती रही महिला

Spread the love

बुधवार की घायल अवस्था में कराहती मिली महिला, मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में जिंदगी और मौत से जूझ रही रेहाना।

कुशीनगर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां जटहां बाजार थाना क्षेत्र के पखनहा गांव के सुगौली चौराहा के पास बुधवार को 25 वर्षीया एक विवाहिता का गला रेतकर फेंक दिया गया। वह घायलावस्था में मिली। सूचना पर पहुंची पुलिस उसे इलाज के लिए भेजवाकर कार्रवाई में जुट गई। उसका इलाज मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में चल रहा है। नवविवाहिता वहां जिंदगी और मौत के बीच जूझ रही है।

बुधवार को कुछ लोग पखनहां गांव के सुगौली चौराहे पर दुकान खोलने जा रहे थे। चौराहे के पास ही एक झोपड़ी के किनारे एक नवविवाहिता बेसुध पड़ी कराह रही थी। नजदीक जाकर लोगों ने देखा तो उसका गला किसी धारदार हथियार से रेता हुआ था। ग्रामीणों के पूछने पर महिला ने बताया कि सरेह में पति तथा एक अन्य उसका गला रेतकर आधी रात को फेंक दिए और भाग गए।

महिला के अनुसार वह धीरे-धीरे चौराहे पर पहुंचकर बैठ गई। उसका नाम रेहाना है, जो महराजगंज जिले के निचलौल थाना क्षेत्र के बढ़ेया पिपरपाती गांव के निवासी मैनुद्दीन की पुत्री है। रेहाना ने बताया कि उसकी शादी खड्डा में हुई है। उसका आरोप है कि पति हाल में ही दूसरी शादी कर ली है। पखनहा के ग्राम प्रधान ने इसकी सूचना पुलिस को दी।
मौके पर पहुंचे एसओ नंदा प्रसाद नवविवाहिता का इलाज कराने सीएचसी विशुनपुरा ले गए, जहां से उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। जिला अस्पताल के डॉक्टर ने भी उसकी हालत गंभीर देखते हुए मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया। युवती मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में जीवन और मौत से जूझ रही है। एसओ नंदा प्रसाद ने बताया कि युवती का इलाज गोरखपुर में हो रहा है। उसके बयान के हिसाब से आरोपियों की तलाश कराई जा रही है। शीघ्र उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
कई घंटे दर्द से तड़पती रही विवाहिता
थाना क्षेत्र के पखनहा चौराहे पर बुधवार में घायलावस्था में मिली रेहाना नाम की नवविवाहिता ने लोगों को बताया कि उसका पति तथा उसका एक सहयोगी मिलकर उसे खड्डा से मंगलवार की देर रात को लेकर चले। भोर में उसका गला रेत दिया और मरा समझकर भाग गए। युवती ने बताया कि काफी देर बाद होश में आई, लेकिन दर्द इतना था कि वह कुछ बोल नहीं पा रही थी। किसी तरह वह जमीन के सहारे घिसटकर चौराहे पर पहुंची। रेहाना ने बताया कि उसके पति ने पहले ही शादी कर लिया है। दो वर्षों से रेहाना से उसका संपर्क था। शादी के बाद वह घर खड्डा न रखकर इधर-उधर ही रखता था। अचानक मंगलवार की रात रेहाना को मारने की उसने योजना बनाई और गला रेतने के बाद मरा समझकर वहां से भाग गया।

पुलिस की सक्रियता से बची जान, एसओ ने इलाज का उठाया जिम्मा
बुधवार की जैसे ही एसओ को इस घटना की जानकारी हुई, वह तत्काल पहुंचे और घायलावस्था में पड़ी रेहाना को सीएचसी विशुनपुरा अपने सरकारी वाहन से ले गए। वहां डॉक्टरों ने जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। एसओ जिला अस्पताल लेकर गए। वहां के डॉक्टरों ने भी कुछ इलाज करने के बाद मेडिकल कॉलेज गोरखपुर के लिए रेफर कर दिया।

एसओ नंदा प्रसाद ने बताया कि दोनों आरोपी फरार है। कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। शीघ्र उनकी गिरफ्तारी कर ली जाएगी। एसओ ने बताया कि युवती की जान बचाना प्राथमिकता है। एक एसआई और एक महिला कांस्टेबल गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में युवती के साथ हैं। उन्होंने कहा कि युवती के मायके वालों के आने तक जो इलाज में खर्च लगेगा, उसे स्वयं वहन करुंगा।

अजय तिवारी
72840cookie-checkनवविवाहिता का गला रेतकर सड़क पर फेंका, कई घंटे दर्द से तड़पती रही महिला