नगर पंचायत बृजमनगंज में अलाव की व्यवस्था न होने से ठंड से ठिठुर रहे लोग, प्रशासन नहीं ले रही कोई खबर

Spread the love

अमिट रेखा से मुनीर आलम(राजन)की रिपोर्ट

बृजमनगंज: बढ़ती ठंड से बच्चे, बूढ़े, जवान सभी कंपकंपा रहे हैं। ठंड़ इस कदर बढ़ गया है कि सभी की कंपकपी छूट गई है। इसके बाद भी बृजमनगंज नगर पंचायत बृजमनगंज में प्रशासन के लोगों की परेशानी से कोई मतलब नही रहा अलाव की व्यवस्था ना होने के कारण लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।
किसी भी चौराहे पर ना ही अलाव दिखा, केवल दावा खोखला दिखाई दे रहा है, बढ़ती ठंड में इन सभी अव्यवस्था के कारण राहगीरों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
जबकि यह तराई क्षेत्र माना जाता है। लेकिन प्रशासन की ओर से अलाव के इंतजाम तो नाकाफी साबित हो रहे हैं। गलन के साथ चल रहे बर्फीली हवाएं करंट की तरह लग रहा हैं। आसमान में बादल छाए रहने के कारण धूप जमीन पर नहीं उतरा। इस कारण लोगों की दिनचर्या अस्त व्यस्त हो गया है।
पिछले एक सप्ताह से तराई में दिन-भर कोहरा छाया रह रहा। कोहरे के चलते बसों और मोटरसाइकिल की रफ्तार भी धीमी हो गई है। वह दिन में भी लाइट जलाकर चल रहे है। और तो और स्कूली बच्चों को भी काफी दुश्वारियां झेलनी पड़ी। कई बच्चे सुबह अपने अभिभावक के साथ स्कूल जाते दिखे, तो कई बच्चे उनसे हाथ छुड़ाकर ठंड की दुहाई देकर जिद भी करते नजर आए। नगर से लेकर कस्बों व चौराहों तक कहीं भी नजर दौड़ाइए तो अलाव की अलाव की आंच की धरातल पर नहीं दिख रही है। बाजारों में रोजमर्रा कमाने- खाने वाले रिक्शा चालक टायर, रद्दी, पुराने कपड़ों व बोरों को जलाकर ठंड से बचाव कर रहे हैं। कस्बा हो या गांव हर जगह लोग ठंड से ठिठुरते नजर आ रहे हैं। रेलवे स्टेशन, मेन मार्केट, गल्ला मंडी, मछली मंडी, सहजनवां रोड़, कोल्हुई रोड़, थाना रोड़, हाता बेला हरैया, और और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ,अस्पताल समेत भीड़भाड़ वाले स्थानों पर भी अलाव की व्यवस्था नहीं है। लोग रद्दी व टायर जला कर शरीर को गरम करने की कोशिश की और प्रशासन को भी जमकर कोसा। प्रशासन के आला अधिकारी कोरम पूरा करने के लिए जगह-जगह अलाव जलाने का दावा कर रहे हैं, जो की खोखला दिखाई दे रहा है। देखना है कि प्रशासन के आला अधिकारी कागजों में ही कोरम पूरा कर करेंगे या सच में लोगों की मदद करेंगे।

35870cookie-checkनगर पंचायत बृजमनगंज में अलाव की व्यवस्था न होने से ठंड से ठिठुर रहे लोग, प्रशासन नहीं ले रही कोई खबर