लार मठ रोड पर दुकानदारों के अतिक्रमण से विद्यार्थी एवं ग्राहक हलकान

Spread the love

अमिट रेखा -अमित कुमार बरनवाल

लार-देवरिया

कोरोना काल में लगे कर्फ्यू के बाद जब स्कूल और कालेज खुलने का आदेश जारी किया गया तो सभी पढ़ने वाले विद्यार्थियों के चेहरे खिल उठे और उन्होंने सरकार के निर्देशानुसार स्कूल आना शुरू कर दिया लेकिन इधर कुछ दिनों से इस कालेज जाने वाली सभी सड़कों पर कुछ दुकानदारों का अवैध कब्जा बढ़ गया है जिससे विद्यार्थियों और ग्राहकों की शामत आ गई है।इस कारण विशेषकर छात्राओं ने स्कूल आना कम कर दिया है और हो भी क्यों नहीं, क्योंकि 8 फीट की सड़क 9 बजे के बाद सिमटकर अतिक्रमण के कारण मात्र 3 फिट की हो जाती जिससे ना तो सोशल डिस्टेंसिग का पालन हो पाता है और न ही राह चलना।इसलिए छात्राएं और महिलाएं अब इस रोड से आने-जाने में कतरा रही है।मठ रोड की इस सड़क पर अकेले लगभग तीन फीट का कब्जा बबलू चूड़िहार है जिसके कारण सुंदर गुप्ता,सुरेश गुप्ता,उमा गुप्ता के यहां के ग्राहक और सब्जी मंडी जाने वाले लोगों का गुजरना दुश्वार हो गया है।इसके अलावा इस रोड के मुख्य मार्ग पर दुर्गा मंदिर और मुकेश बरनवाल के दुकान के सामने भवन निर्माण के लिए दबंगों द्वारा प्रशासन को धत्ता बताते हुए इस शादी-ब्याह के सीजन में पूरी सड़क पर ही बांस बल्ली गाड़कर रास्ता अवरुद्ध कर दिया गया है और इतना होने के बाद भी नगर पंचायत और प्रशासन हाथ पर हाथ धरे बैठा है।अब सवाल ये उठता है कि क्या सरकार द्वारा सड़क एवं बाजार का निर्माण सभी लोगों की सुविधा के लिए बनाया जाता है या कुछ लोगों के स्वार्थ सिद्धि के लिए अवैध कब्जा कर अपना उल्लू सीधा करने के लिए।पूरे लार बाजार की सड़कों पर अतिक्रमण के कारण आमजन और विद्यार्थी हनकान और परेशान है तथा बार बार शिकायत करने एवं खबर प्रकाशित होने के बाद भी जिम्मेदार न जाने किस दबाव में मौन व्रत धारण कर बैठे हैं।

6040cookie-checkलार मठ रोड पर दुकानदारों के अतिक्रमण से विद्यार्थी एवं ग्राहक हलकान