July 18, 2024

खड्डा : विकास खंड खड्डा अंतर्गत 7 गांवो में घुसा नारायणी का पानी, निरीक्षण करने पहुंचे पानी में उतरे जिलाधिकारी एस राजलिंगम, एसडीएम खड्डा अरविंद कुमार और खड्डा विधायक जटाशंकर त्रिपाठी

Spread the love


अमिट रेखा
अजय तिवारी
नेबुआ नौरंगिया

खड्डा/कुशीनगर। आज दिनांक 27 अगस्त 2021 दिन शुक्रवार को कुशीनगर जनपद के विकासखंड खड्डा अंतर्गत ग्राम सभा महदेवा, हरिहरपुर, बसंतपुर नारायणपुर, शिवपुर, सालिकपुर, मरचहवा रेता क्षेत्र गांवो में अत्यधिक वर्षा होने के कारण नारायणी नदी अपने उफान पर है और उक्त सभी गांवो में नारायणी नदी का पानी प्रवेश कर गया।
सूचना मिलने पर निरीक्षण करने पहुंचे कुशीनगर जिला अधिकारी एस राजलिंगम, एसडीएम खड्डा अरविंद कुमार, खड्डा विधायक जटाशंकर त्रिपाठी पानी में उतरकर स्थिती को देखते बाढ़ प्रभावितों को बचाने हेतु समुचित व्यवस्था कराई जा रही है। प्रशासनिक अधिकारी व क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों द्वारा गांव के लोगों के लिए भोजन, पानी, रहने के लिए उंचे स्थान पर बने शरणालय में लोगों को वहां जाने की अपील की जा रही है।
गांवो में पानी प्रवेश करने के कारण छोटे-मोटे वहां की सड़कें टूट चुकी हैं जिससे स्थिति और भी खराब हो चुकी है और गांव पूरा जल मग्न हो चुका है और किसानों की फसल बर्बाद हो चुकी है।अब देखना यह है कि शासन प्रशासन और क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों द्वारा बाढ़ प्रभावित गांवो के अस्तित्व को क्या बचाया जा सकता है या शासन प्रशासन और प्रशासनिक अधिकारी सहित क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों की आंखों के सामने बाढ़ की चपेट में आने वाले सभी गांवो पानी की धारा में बह जाएंगे? लोगों को बचाने में प्रशासनिक अधिकारी व क्षेत्र के जनप्रतिनिधि द्वारा उनको ऊंचे स्थान महदेवा ग्राम सभा में बने शरणालय में भेजा जा रहा है ताकि उन्हें किसी प्रकार की कोई दिक्कत ना हो और खाने पीने के लिएसमुचित व्यवस्था भी कराई जा रही है। मिली जानकारी के अनुसार मरचहवा में कुल 80 परिवार है जिनमें 410 व्यक्ति हैं, इसी प्रकार बसंतपुर में 30 परिवार और 135 व्यक्ति हैं, हरिहरपुर में 85 परिवार 180 व्यक्ति हैं, नारायणपुर में 80 परिवार 160 व्यक्ति हैं ,शिवपुर में 90 परिवार 425 व्यक्ति हैं ,महदेवा में 285 परिवार है जिसमें 875 व्यक्ति हैं, सालिकपुर में 130 परिवार है जिसमें 510 व्यक्ति हैं। सभी गावों को मिलाकर टोटल 785 परिवार हैं जिनमें 2695 व्यक्ति है उक्त सभी गाँव बाढ़ की चपेट में हैं। उक्त गांवो में एक से डेढ़ फीट तक पानी लग चुका है। मिली जानकारी के अनुसार अभी तक मात्र 150 व्यक्ति ही महदेवा शरणालय में रुके है, शेष व्यक्ति अपने घरों में ऊंचे स्थान पर रुके हैं। शासन प्रशासन द्वारा उक्त सभी गांव में एक- एक, दो-दो नाव की व्यवस्था की गई है। कुल नावों की संख्या 10 बताई जा रही है जो सुरक्षा व्यवस्था में लगाई गई है।