हिन्दू महासभा नेताओं ने श्रीराम जन्मभूमि पर आशीर्वाद लेकर स्वर्ण चबूतरा अर्पित करने कि संकल्प दोहराया

Spread the love

हिन्दू महासभा नेताओं ने श्रीराम जन्मभूमि पर आशीर्वाद लेकर

स्वर्ण चबूतरा अर्पित करने का संकल्प दोहराया

मनोज तिवारी ब्यूरो रिपोर्ट अयोध्या

अयोध्या : अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रविन्द्र कुमार द्विवेदी के नेतृत्व एवम् प्रभु श्रीराम सेवा संस्थान की चेयर पर्सन साध्वी पूनम अग्रवाल के सान्निध्य में हिन्दू महासभा पदाधिकारियों का एक प्रतिनिधि मंडल अयोध्या के धर्माचार्यों से मिला और उनका आशीर्वाद लेकर श्रीराम जन्मभूमि पर निर्मित हो रहे भव्य मंदिर में स्वर्ण चबूतरा अर्पित करने का संकल्प दोहराया । 

      आज प्रातः हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष रविन्द्र कुमार द्विवेदी के नेतृत्व में हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री अधिवक्ता संजया शर्मा , राष्ट्रीय महामंत्री आचार्य विजय प्रकाश मानव , पंजाब प्रदेश अध्यक्ष स्वामी राम दास उदासी जी महाराज , त्रिपुरा के अध्यक्ष प्रशांत चक्रवर्ती , हरियाणा के अध्यक्ष आर के शर्मा हरियाणा महामंत्री राजकुमार शर्मा तालू , जिला अयोध्या अध्यक्ष राकेश दत्त मिश्र , अधिवक्ता अनंत शर्मा , दिव्यम शर्मा , राधिका शर्मा , साध्वी पूनम अग्रवाल , रामधन निषाद प्रधान जी, , मुकेश निषाद , रविन्द्र प्रचारक और हेमंत निषाद ने श्रीराम जन्मभूमि पर राम लला के दर्शन किए । ये सभी पदाधिकारी देश के कोने कोने से हिन्दू महासभा के मानस भवन में संपन्न राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में हिस्सा लेने आए थे । राम लला विराजमान के समक्ष साध्वी पूनम अग्रवाल ने राम लला के लिए सोने का चबूतरा अर्पित करने का संकल्प लिया । 

       राम लला के दर्शन के पश्चात हिन्दू महासभा नेताओं का यह दल हनुमान गढ़ी के पुजारी राजू दास जी महाराज , निर्मोही अखाड़ा के महंत और श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य महंत दीनेंद्र दास जी महाराज और उदासीन आश्रम रानोपाली के महंत डॉक्टर भरत दास से भेंट की और उनका आशीर्वाद प्राप्त किया ।

     हिन्दू महासभा नेताओं ने धर्माचार्यों से साध्वी पूनम के संकल्प से अवगत कराते हुए संकल्प पूर्ति के लिए आशीर्वाद और सहयोग मांगा । धर्माचार्यों ने संकल्प पूरा होने का आशीर्वाद दिया ।

9350cookie-checkहिन्दू महासभा नेताओं ने श्रीराम जन्मभूमि पर आशीर्वाद लेकर स्वर्ण चबूतरा अर्पित करने कि संकल्प दोहराया