गले में फंसी थी बंदूक की गोली, डॉक्टरों ने ऐसे बचाई जान

Spread the love

अमिट रेखा-सत्य प्रकाश यादव
तहसील गोरखपुर

गोरखपुर बीआरडी मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों ने गर्दन में फंसी गोली निकालकर एक व्यक्ति की जान बचाई है। एक घंटे तक चले ऑपरेशन में डॉक्टरों की टीम ने काफी मेहनत की। बताया जाता है कि अगर गोली समय से नहीं निकलती तो मरीज की मुश्किलें बढ़ जाती और जान भी जा सकती थी।जानकारी के मुताबिक सिकरीगंज निवासी राणा प्रताप को गीडा इलाक के जिगिना स्थित शिव लॉन में कुछ लोगों ने गोली मार दी थी। एक गोली पीठ पर लगकर आगे से निकल गई थी। जबकि दूसरी गोली पीठ के ऊपरी हिस्से से निकलकर गले में जा फंसी।आनन-फानन में लोग इलाज के लिए बीआरडी मेडिकल कॉलेज लेकर आए। जहां पर नाक, कान, गला रोग विशेषज्ञ डॉ. पीएन सिंह की अगुवाई में डॉ. वर्तिका तिवारी ने जांच करते हुए एक्स-रे कराया। एक्स-रे में पता चला कि गोली सीधे गले में जाकर अटक गई है। इसके बाद एनेस्थीसिया के डॉ. सुहास और डॉ. अभय की मौजूदगी में डॉ. पीएन सिंह और डॉ. वर्तिका ने एक घंटे तक सफल ऑपरेशन करते हुए गोली निकाला। गोली निकाले जाने के बाद मरीज की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है।डॉक्टरों के मुताबिक अगर गोली समय से नहीं निकलता तो मरीज की जान जा सकती थी। सही समय पर इलाज के कारण मरीज की जान बच गई। फिलहाल इस मामले की जांच पुलिस अपने स्तर से कर रही है।

4850cookie-checkगले में फंसी थी बंदूक की गोली, डॉक्टरों ने ऐसे बचाई जान