July 19, 2024

अस्पताल की लापरवाही से जच्चा-बच्चा की मौत

Spread the love

अमिट रेखा
अजय तिवारी नेबुआ नौरंगिया

नेबुआ नौरंगिया क्षेत्र के एक निजी अस्पताल में ऑपरेशन के दौरान जच्चा-बच्चा की मौत हो जाने से परिजनों में कोहराम मच गया है। डॉक्टर पर इलाज के नाम पर 40 हजार रुपये हड़पने व लापरवाही से दोनों को मार डालने का आरोप लगाते हुए परिजनों ने पुलिस व एसडीएम से शिकायत की है।
हनुमानगंज थाना क्षेत्र के ग्रामसभा बोधीछपरा के एडीओ टोला निवासी छोटेलाल जायसवाल ने बताया है कि उनकी पुत्री शोभा (26वर्ष) पत्नी प्रदीप जायसवाल अपने मायके में ही रह रही थी। शोभा पेट से थी। शनिवार को प्रसव पीड़ा शुरू हुई तो छोटेलाल प्रसव के लिए नेबुआ नौरंगिया थानाक्षेत्र के कोटवा बाजार स्थित साई अस्पताल में लेकर पहुंचे। डॉक्टर ने खून कम होने की बात कहते हुए पहले तो ऑपरेशन करने से इनकार कर दिया। परिजनों ने जब किसी दूसरे अस्पताल में रेफर करने को कहा तो डॉक्टर ने भरोसा दिलाया कि ऑपरेशन कर देंगे, लेकिन चालीस हजार रुपये लगेंगे। परिस्थितियों को देखते हुवे परिजनों ने रुपये देने पर राजी हो गये और एडवांस में करीब पंद्रह हजार रुपये जमा कर दिये।
परिजनों का आरोप है कि डॉक्टर ने लापरवाही से ऑपरेशन किया। इस दौरान देर रात को पहले बच्चे व बाद में शोभा की मौत हो गई। परिजनों के ऐतराज करने पर डॉक्टर ने शव के साथ परिजनों को खदेड़ दिया। रविवार की देर शाम को हनुमानगंज थाने में तहरीर देने के बाद शोभा के ससुराल वाले शव को लेकर बिहार के चौतरवा चले गए और अंतिम संस्कार कर दिया। हनुमानगंज पुलिस छानबीन में जुटी हुई है। हनुमानगंज थाने के एसओ पंकज गुप्ता ने बताया कि घटना की जानकारी है। तहरीर मिलने के बाद जांच-पड़ताल की जा रही है। उसके बाद आवश्यक कार्यवाही की जायेगी।