रामपुर चन्द्रभान गाँव की सड़कें बद से बत्तर

Spread the love

आने जाने वाले राहगीर और गांव वाले पिछले कई महीनों से है परेशान

इस ग्राम सभा पर किसी भी शासन और प्रशासन का नही है ध्यान

चुनाव से पहले हर तरह के पार्टी और नेता कई तरह के कर चुके है वादे मगर आज तक एक भी वादे नही किये पूरे

अमिट रेखा
जितेन्द्र कुमार सिंह स्वंत्रत
तहसील प्रभारी देवरिया

देवरिया-रामपुर कारखाना-रामपुर कारखाना थाना क्षेत्र के अंतर्गत रामपुर चंद्रभान गांव में कुल आबादी 5000 मतदाता 1400 साक्षरता 60 फीसद है।मगर आज तक किसी नेता मंत्री का ध्यान इस गांव पर नही पड़ा 338 विधान सभा पथरदेवा विधानसभा क्षेत्र के इस गांव का विकास होते-होते रह गया। उत्तर प्रदेश के तीनों पार्टियों की सरकारें आई और चली गई, लेकिन गांव को मूलभूत सुविधाएं भी नसीब नहीं हुई। अलबत्ता,जब-जब चुनाव आता है।पार्टी के प्रत्याशी वोट मांगने जाते हैं। बड़े-बड़े दावे करते हैं।लेकिन बाद में भूल जाते हैं। हालात यह है कि गाँव की सड़कें एकदम खस्ता हॉल में है। ग्रामीण और राहगीर पानी भरे सडके में चलने को मजबूर है। सड़कें एकदम चौपट हो चुकी है। गांव के प्रवेश द्वार को देखकर पॉश इलाका होने का भ्रम हो सकता है।एक तरफ यह गांव है। यहां से गांव में आने-जाने का रास्ता खड़ंजा का है।विडंबना है कि गांव की सड़के व नालिया इस कदर टूटी है कि गंदा पानी रोड पर बह रहा है।इससे ग्रामीणों का फसल भी नुकसान हो रहा है।रामपुर चंद्रभान गांव में ग्रामसभा की काफी जमीन है। अगर प्रदेश सरकार चाहती तो स्कूल, अस्पताल व खेल परिसर का विकास कर सकती है।लेकिन गांव वालों को उनके हाल पर छोड़ दिया है।पांच साल से गाँव में कोई विकास का कार्य नहीं हुआ है।प्रदेश सरकार ने भी काम नहीं कराया।वर्तमान सांसद विधायक ने भी कभी गांव का हाल चाल नहीं पूछा। जब भी चुनाव आता है वोट मांगने के लिए प्रत्याशी जरूर आ जाते हैं।लेकिन इसके बाद पहचानना भूल जाते हैं।चुनाव होने के बाद गांव से नाता तोड़ लिया जाता है ।
इस ग्राम सभा में एक भी सीसी सड़क नही
देश आजाद हुए 72 साल गुजर चुके हैं। इन 72 सालों में कई जगह बहुत कुछ बदल गया तो कई जगह ऐसी भी हैं जहां कुछ नहीं बदला। लोग जैसे 72 साल पहले रह रहे थे, आज भी वैसे ही रहते हैं। जी हां देवरिया जिले के विकास खंड रामपुर कारखाना में ग्राम पंचायत रामपुर चन्द्रभान है। जहां आज भी लोग कच्ची गलियों से निकलते हैं। हैंडपंपों का गंदा पानी पीते हैं। गंदगी की वजह से गांव में बीमारियां फैल रही हैं। गांव की लगभग 5000 आबादी है।अभी तक इस गांव में विकास की बड़ी बड़ी बातें हुई हैं लेकिन विकास दूर दूर तक दिखाई नहीं देता है।
पानी निकासी की बड़ी समस्या
रामपुर चन्द्रभान गांव जमीनी सतह से ऊंचाई पर बसा है। बावजूद इस गांव में पानी निकासी न हो पाने से गांव के रास्ते दलदल बने रहते हैं। गांव के बगल में ही नहर है। लेकिन बेहतर कार्य योजना के अभाव में गंदे पानी की निकासी नहीं हो पा रही है। जिससे गांव में भीषण गंदगी व्याप्त है। इस कारण न केवल गांव में प्रदूषण बढ़ रहा है।मच्छरों का प्रकोप बढ़ने से भी ग्रामीण परेशान हैं। गांव में बीमारियां फैल रही हैं। पेट दर्द, हाथ पांव में दर्द, दस्त आदि आम बात है।गांव के राजू सिंह,जयराम सिंह,मुन्ना सिंह,गोपाल सिंह,लोरिक यादव,प्रभु वर्मा,रामनिवास शर्मा,रविन्द्र सिंह,राम नक्षत्र सिंह,आदि ने गांव की गलियों में सीसी रोड बनाए जाने की मांग की है। यहां खास बात यह है कि इन्हीं रास्तों पर गांव के किसानों के खेत भी हैं।

27270cookie-checkरामपुर चन्द्रभान गाँव की सड़कें बद से बत्तर