July 15, 2024

अबतक नही हुई कोई सुनवाई : महिवाल जायसवाल,बघौचघाट से बोलेरों की चोरी, क्षेत्रीय हाथ या चोरों का निशाना-

Spread the love


अमिट रेखा देवरिया।
ब्लाक पथरदेवा के थाना बघौचघाट हाजी मार्केट नजदीकी आंध्रा बैंक के पास से एक बोलेरों के ऊपर चोरों ने अपना हाथ साफ कर दिया। जानकारी के मुताबिक यह बोलेरो स्वर्गीय मुनीब जायसवाल के पुत्र महिवाल जायसवाल की है। हर रोज की तरह गाड़ी नंबर UP 52 P6322 अपने निर्धारित स्थान हाजी साहब के दरवाजे पर खड़ी रही। जो कि शुक्रवार की रात को चोरी हो गई। सुबह शनिवार को जब बोलेरो कि जरुरत आई तो मौके से गायब दिखी। बतादूँ की बैंक का जिक्र ऐसे ही समाचार में नही किया जा रहा है। जरा सोचिए आंध्रा बैंक के ठीक सामने से दस कदम पर यह घटना हुई है। क्षेत्र का वह बैंक जहां रात को पुलिस का पहरा होना चाहिए , एटीएम की देख रेख होनी चाहिए ऐसे परिस्थितियों में यह तो तय हो गया कि बैंक की रखवाली भी भाग्य भरोशे होती होगी। क्योकि अगर अर्ध रात्री को पुलिस ड्यूटी में होती तो शायद गाड़ी की भी देख रेख हुई होती , चलिए मान लिया जाय कि पर्व को लेकर पुलिस आने जाने वालों पर कोई रोक नही लगाई हो फिर भी प्रशासन की आखो से कोई नही बच सकता , इस सम्बंध में गाड़ी मालिक महिवाल जायसवाल ने पत्रकार प्रभारी से कहा कि चोरी की बस्तुये कहा जाती है इसका कहा कहा ठिकाना है अब पुलिस से अधिक कोई नही जान सकता , ऐसी घटना जिले में कही न कही रोज होती सुनी जाती है पर क्या चोरी की बस्तुयो को खरीदारी करने वाले कबाड़ी की दुकानें सील आप लोगो ने शायद बहुत कम सुनी होगी। ऐसे में दरवाजे से चोरी होना , बिक जाना और 5 सालो बाद पता लगने का कार्यक्रम जनपद देवरिया में कई सालों से चलता आ रहा है अब तक ठोस कदम नीचे से उपर तक के चोर , खरीदार, और कबाड़ की दुकान पर नही उठाया गया। वे अपना कारनामा दिखाते ही आ रहे है । इस अवस्था मे अबतक देवरिया पुलिस अपने को लाचार ही साबित करती आई है चोरी हुई वस्तु मिल जाने का रिजल्ट बहुत कम ही विभाग के द्वारा सुनने को मिली है।अब देखना यह है कि थाना बघौचघाट और जिला प्रशासन इस बड़ी चोरी का पर्दाफाश कितने दिनों में करती हैं। गाड़ी मालिक ने यह भी कहा कि अबतक प्रशासन मौन धारण क्यो की है।

3520cookie-checkअबतक नही हुई कोई सुनवाई : महिवाल जायसवाल,बघौचघाट से बोलेरों की चोरी, क्षेत्रीय हाथ या चोरों का निशाना-