July 18, 2024

उपजिलाधिकारी का आदेश बेअसर, लेखपाल ने नहीं किया पोखरे पर अतिक्रमण की जांच

Spread the love
  • उपजिलाधिकारी का आदेश बेअसर, लेखपाल ने नहीं किया पोखरे पर अतिक्रमण की जांच
  • पोखरी पर अतिक्रमणकारियों का कब्जा, गांव में जलजमाव
  • शिकायतों पर नही जागा तहसील प्रशासन, ग्रामीण परेशान अमिट रेखा सुनील पाण्डेय

ब्यूरो महराजगंज

फरेंदा विकास खंड क्षेत्र ग्राम पंचायत कम्हरिया खुर्द के बरई टोलो के पोखरी पर कुछ दबंग व्यक्ति अतिक्रमण कर कब्जा जमाए हुए है। इस संबंध में ग्रामीणों ने उपजिलाधिकारी को शिकायत पत्र देकर कार्रवाई की भी मांग किया है। जिस पर उपजिलाधिकारी ने हल्का लेखपाल को पोखरे पर हुए अतिक्रमण की जांच लिखा। लेकिन लेखपाल ने पोखरे की जांच नही की। जिससे अतिक्रमण ज्यों का त्यों है। कोई कार्रवाई न होने से अतिक्रमणकारियों का हौसला बुलंद है। गांव के निजामुद्दीन, शैलेंद्र, सब्बीर, अकबर, दिनेश चौरसिया, शमसाद, रहमत अली ने कहा कि गांव में पोखरी के नाम पर गाटा संख्या 475/0085 है। कुछ दबंगों के अतिक्रमण के कारण यह पोखरा सिमट कर कूड़ा करकट से पट गया है। लोग शौचालय आदि बनवा व पोखरे को पाट कर अपने सहन मे मिला लिए है। यही नही घरों के दरवाजे व खिड़कियों को पोखरो की तरफ जान बूझ कर खोल रहा है कि धीरे धीरे उस पर अवैध कब्जा जमाया जा सके। वहीं पोखरे के पट जाने से नालियों का पानी सड़क पर जमा हुआ है। जिससे आने जाने में लोगों को काफी परेशानी हो रही है। जलजमाव के कारण संक्रामक रोगों के फैलने की भी आशंका है। जिससे ग्रामीण दहशत में हैं। सब कुछ जान कर भी प्रशासन में बैठे जिम्मेदार मामले से अंजान बन रहे है। इस समय मौजूद ग्राम वासी जैसे भुअर, अवधराज, धन्नू, नजीबुन, निशा, धर्मराज, मदीना, खातुन, जिआउदीन, बयीराही, सहाबुदीन, इसरार, अकबाल, सोनू इन लोगों को काफी दिक्कत आने जाने में होती है।
इस संबंध में उपजिलाधिकारी फरेंदा राजेश जायसवाल ने कहा कि शासन के निर्देश पर ग्राम सभा की सभी सम्पत्तियों की जांच की जार ही है। नियम विरुद्ध होने पर हटाया जाएगा।

1670cookie-checkउपजिलाधिकारी का आदेश बेअसर, लेखपाल ने नहीं किया पोखरे पर अतिक्रमण की जांच