July 18, 2024

सरकार की बदनामी कराने में जुटे अधिकारी- बना जांच का विषय

Spread the love


अचलस्थ ग्रामीण व्यवस्था, सत्ता बदलने पर जनता मजबूर – चर्चा
बाज़ार से लेकर गांव नही हुए अबतक सेनिटाइज
राजू प्रसाद श्रीवास्तव ( प्रदेश प्रभारी )
लखनऊ ।
उत्तर प्रदेश का जनपद देवरिया सहित कई ब्लाक के गांवों से सरकार की व्यवस्थाओं को लेकर आक्रोशित खबरे सुनने को मिल रही है सूत्रों का कहना है कि सरकार के सत्ता का पतन चमचे अधिकारियों के कारनामों से ही बदलता रहता है। सही कार्य , निर्देश का पालन न करके सरकार की बदनामी करने का कार्य करते रहते है वही ग्रामीण स्तर तक सुविधाओं को न देकर भोली भाली सरकार के विपरीत ग्रामीणों में आक्रोश भर देते है जिसका रिजल्ट चुनावी मैदान में देखने को मिल ही जाता है। कोरोना काल में जो चर्चा आज कल तेज हुई है वह सरकार के बड़े बड़े नेता मंत्री विधायक के लिए एक चिंता का विषय बना हुआ है। अचलस्थ व्यवस्था ग्रामीणों को रोने पर दमभर मजबूर कर दिया है । हॉस्पिटल हो या सरकारी कार्यालय सरकार के मंशा के अनुरूप चल रहे है दवा हो या टीकाकरण डाक्टर सहित समस्त कर्मचारी मनमानी करने पर तुले हुए है सिर्फ बड़े बड़े अधिकारियो के कागज में कार्यो का कोरम पूरा होना ही जनता के द्वारा सुनी जा रही है परन्तु जमीनी हक़ीक़त कुछ और है। इस महामारी कोरोना वायरस को देखते हुए सरकार ने जो वायरस को मारने हेतु दवा,छिड़काव और टिकाकरण की व्यवस्थाएं अधिकारियों के हाथो मे सौंपी है वह आज फेल नजर आ रही है जनपद के ब्लाक थाना क्षेत्रों में अब तब कई गांवो में जनता कीटाणु नाशक दवा के छिड़काव की राह देख रही है एवं नजदीकी अस्पताल पर बीमारियो का इलाज ढूढ़ रही है। लेकिन कोई व्यवस्था नही दिख रही है। सरकारी विभाग की टीम समय समय पर निरीक्षण तक का कार्य भूल गयी है। मनमाना ढंग से कागजो में कोरम पूरा करने का कार्य चल रहा है। जिसको लेकर जनता वर्तमान सरकार के अचलस्थ व्यवस्था से ऊबती नजर आ रही है।

61160cookie-checkसरकार की बदनामी कराने में जुटे अधिकारी- बना जांच का विषय