July 15, 2024

सदर सांसद ने उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न योजनाओं के सुलभ एवं सफल क्रियान्वयन हेतु दिया निर्देश

Spread the love

जिला स्तरीय सलाहकार समिति एवं जिला स्तरीय समीक्षा समिति की आयोजित की गई त्रैमासिक बैठक

ऋण जमानुपात एवं वार्षिक ऋण योजना की प्रगति की बैंकवार हुई समीक्षा

सदर सांसद ने उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न योजनाओं के सुलभ एवं सफल क्रियान्वयन हेतु दिया निर्देश

अमिट रेखा देवरिया ब्यूरो।   मुख्य विकास अधिकारी प्रत्यूष पाण्डेय की अध्यक्षता में जिला स्तरीय सलाहकार समिति (डीसीसी) एवं जिला स्तरीय समीक्षा समिति (डीएलआरसी) की मार्च-2024 की त्रैमासिक बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित की गयी।
बैठक के मुख्य अतिथि सदर सांसद शशांक मणि द्वारा उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए सरकार की विभिन्न योजनाओं के सुलभ एवं सफल क्रियान्वयन के लिए बैंको को निर्देशित किया गया।
जनपद का ऋण जमानुपात एवं वार्षिक ऋण योजना की प्रगति की बैंकवार समीक्षा की गयी। जिसमें मार्च-2024 को समाप्त वार्षिक तिमाही में जनपद ने वार्षिक ऋण योजना के लक्ष्य 394150.33 लाख के सापेक्ष 419671.95 लाख की उपलब्धि प्राप्त की, जोकि लक्ष्य का 106.48 प्रतिशत रही। वार्षिक ऋण योजना 2023-24 में कृषि क्षेत्र की उपलब्धि 42.56 प्रतिशत एवं कुल प्राथमिकता प्राप्त क्षेत्र की उपलब्धि 73.13 प्रतिशत रही जो कि काफी असंतोषजनक है। जिसके लिए अध्यक्ष द्वारा नाराजगी व्यक्त की गयी। साथ ही मार्च-2024 तिमाही में जनपद का ऋण जमानुपात रेसियों 40.51 प्रतिशत था। जोकि राज्य के औसत लक्ष्य 59 प्रतिशत से कम है। जनपद के लगभग सभी प्रमुख बैंकों का ऋण जमानुपात रेसियों 40 प्रतिशत से कम है, जिसके लिए सीडीओ द्वारा सख्त नाराजगी व्यक्त की गई एवं सभी बैंको को ऋण जगानुपात के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सख्त निर्देश दिया गया। कृषि, उद्योगों, एवं अन्य प्राथमिकता प्राप्त क्षेत्रों में ऋण को बढ़ावा देकर जनपद के ऋण जमानुपात रेसियो को राज्य के औसत लक्ष्य तक प्राप्त करने का निर्देश जारी किया गया। साथ ही अध्यक्ष द्वारा प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना के लक्ष्य से अधिक उपलब्धि एवं राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के स्वयं सहायता समूहों को सी०सी०एल० ऋण में वितरण में जनपद की राज्य में उत्कृष्ट उपलब्धि के लिए सराहना की गयी एवं इसमें उत्कृष्ट उपलब्धि के लिए बड़ौदा यू०पी०बैंक एवं सेन्ट्रल बैंक ऑफ इण्डिया द्वारा प्राप्त उपलब्धि की अध्यक्ष द्वारा प्रशंसा की गयी। इस बैठक में वार्षिक ऋण योजना 2024-25 के लक्ष्य जोकि 541069.90 लाख का अनुमोदन भी किया गया।
बैठक में सभी शासकीय योजनाओं, स्वयं सहायता समूहों, किसान क्रेडिट कार्ड, व्यवसाय ऋणों एवं पी० एम० स्वनिधि से सम्बन्धित ऋण पत्रावलियों को समय से स्वीकृत व वितरित करने का निर्देश दिया गया। साथ ही सभी शासकीय योजनाओं के शत-प्रतिशत लक्ष्य को प्राप्त करने का निर्देश भी अध्यक्ष महोदय द्वारा दिया गया। वित्तीय साक्षरता एवं वित्तीय समावेशन को बढ़ाने, गुणवत्तापूर्ण नोटों की आपूर्ति के सम्बन्ध में भारतीय रिजर्व बैंक के अग्रणी जिला अधिकारी ने प्रकाश डाला। जिला विकास प्रबन्धक नाबार्ड द्वारा प्री पी०एल०पी० 2025-26 की चर्चा की गयी।
अन्त में अग्रणी जिला प्रबन्धक अरूणेश कुमार ने सांसद एवं अध्यक्ष को सभी बैंको द्वारा लक्षित प्रगति के आश्वासन के साथ सभी उपस्थित गणमान्य अधिकारियों एवं सदस्यों का धन्यवाद ज्ञापन करते हुए बैठक का समापन किया।
बैठक में भारतीय रिवर्ज बैंक के अग्रणी जिला अधिकारी कुमार कौशल कौशिक, अग्रणी जिला प्रबन्धक अरूणेश कुमार, जिला विकास प्रबन्धक नाबार्ड सूरज शुक्ला, उपायुक्त उद्योग खूशबू सिंह, खादी ग्रामोद्योग प्रशासनिक सहायक अमरनाथ त्रिपाठी तथा विभिन्न बैंकों से आये हुए वरिष्ठ अधिकारी एवं जिला बैंक समन्वयक उपस्थित रहें।

157720cookie-checkसदर सांसद ने उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न योजनाओं के सुलभ एवं सफल क्रियान्वयन हेतु दिया निर्देश