July 15, 2024

नारायणी नदी में नाव पलटने से 5 की मौत एक लापता

Spread the love

अमिट रेखा/संतोष पाठक/कुचायकोट गोपालगंज

विशंभरपुर थाना क्षेत्र के भोज छापर गांव के पास नारायणी नदी में सोमवार को नाव पलट जाने से तीन बच्चों समेत चार लोगों की मौत हो गई। इस हादसे में दो और लोगो के लापता होने की बात बताई जा रही है।जिनकी तलास स्थानीय लोगो के से सहयोग से एसडीआरएफ की टीम कर रही है। नाव हादसे में मारे गए सभी सभी लोग कर्तनाथ मंदिर के पास सोमवार को लगे मेला देखने आए हुए थे ।पुलिस ने चारो शवो को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल गोपालगंज भेज दिया है ।मौके पर सदर एसडीएम गोपालगंज उपेंद्र कुमार पाल के नेतृत्व में पुलिस और प्रशासनिक पदाधिकारियों की टीम स्थानीय लोगों के सहयोग से लापता लोगो के तलाश में अभी भी जुटी हुई है। मिली जानकारी के अनुसार विशंभरपुर थाना क्षेत्र के रामेश्वर कर्तानाथ मंदिर भोजछापर में सावन महीने में बड़ी संख्या में श्रद्धालु जल चढ़ाने के लिए आते हैं ।प्रत्येक सोमवार और शुक्रवार को नारायणी नदी से जल भर कर श्रद्धालु कांवर यात्रा के साथ मंदिर में पहुंचते हैं और पूजा अर्चना करते हैं ।इस वर्ष पूर्व विधान पार्षद आदित्य नारायण पांडे द्वारा कर्तानाथ मंदिर के पास ही नारायणी नदी में नारायणी आरती का आयोजन किया गया है। बड़े पैमाने पर हो रहे इस नारायणी आरती को देखने के लिए आस-पास के गांव में भारी संख्या से श्रद्धालु जुटते हैं ।बताया जाता है कि सावन का अंतिम सोमवार होने के चलते कर्तानाथ मंदिर पर मेले का आयोजन था और यहां बड़ी संख्या में श्रद्धालु और भक्त पहुंचे थे। शाम को होने वाली आरती को लेकर भी तमाम लोग मौजूद थे ।बताया जाता है कि नदी के किनारे एक नाव से लोग इस पार से उस पार घूमने के लिए आते जाते थे। सोमवार करीब दो बजे 5 लोगों की क्षमता वाले इस नाव पर एक दर्जन लोग सवार हो गए। सवार लोगों में बच्चे और महिलाएं भी शामिल थी। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना था कि नाव घूमने के बाद धीरे-धीरे घाट के किनारे आ रही थी। इस दौरान कुछ लोगों द्वारा जल्दबाजी में नाव से उतरने की कोशिश शुरू कर दी गई ।जिसके बाद नाव असंतुलित होकर पलट गई। इस घटना में कुछ लोग तैरकर बाहर निकल गए। जबकि अधिकांश नदी के गहरे पानी में डूबने लगे। इस दौरान आसपास के लोगों ने नदी में समा कर डूब रहे कुछ लोगों को गंभीर हालत में बाहर निकाला और उन्हें इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कुचायकोट भेजा। यहां चिकित्सकों ने इलाज के दौरान तीन बच्चों समेत चार लोगों की मौत की पुष्टि कर दी। एसडीआरएफ और स्थानीय ग्रामीणों ने शाम करीब 5:00 बजे इस घटना में लापता एक 4 वर्षीय बच्ची का शव नदी के गहरे पानी से ढूंढ कर निकाला । इस घटना में अभी दो अन्य लोगो के भी लापता होंने की बात बताई जा रही है जिसमें एक मृतक की 4 वर्षीय बेटी सृष्टि सामिल है। जिन्हें वरीय पदाधिकारी स्थानीय लोगों के सहयोग से तलाश कर आ रहे हैं ।इस घटना में जिन लोगों की मौत की पुष्टि हुई उसमें विशंभर पुर थाना क्षेत्र के विनोद मटिहिनिया गांव निवासी नंद किशोर महतो का 10 वर्षीय पुत्र पवन महतो, रामपुर मुकुंद गांव के निवासी बम बहादुर का 14 वर्षीय पुत्र आकाश, कुचायकोट थाना क्षेत्र के हाता मठिया गांव निवासी ब्रजेश गुप्ता की 25 वर्षीय पत्नी पुष्पा देवी तथा विशंभरपुर थाना क्षेत्र के ही सल्लेहपुर मटिहिनिया गांव निवासी रामेश्वर राम का 12 वर्षीय पुत्र गोलू कुमार शामिल है ।इस घटना में बृजेश गुप्ता और मृतक पुष्पा देवी की 4 वर्षीय पुत्री सृष्टि लापता बताई जाती है ।जिसके तलाश में प्रशासन और स्थानीय लोग जुटे हैं ।घटना के बाद सदर एसडीएम उपेंद्र कुमार पाल ,कुचायकोट वीडियो वैभव शुक्ला ,पूर्व विधान पार्षद आदित्य नारायण पांडे ,विशंभरपुर थाना अध्यक्ष दिनेश कुमार यादव समेत अन्य पदाधिकारी तथा अन्य लोग मौके पर मौजूद रहकर लापता बच्ची के तलाश में लगे हैं।

80540cookie-checkनारायणी नदी में नाव पलटने से 5 की मौत एक लापता