July 16, 2024

चौबीस घंटे बाद भी तरया सुजान पुलिस के हाथ नहीं लगा कोई सुराग

Spread the love

बदमाशों ने सिपाही को गोली मारकर किया घायल, पुलिस कुछ भी बताने से कर रहीं हैं परहेज़

अमिट रेखा /शक्ति कुमार /सलेमगढ़ कुशीनगर
तरयासुजान थाने पर तैनात एक सिपाही को अज्ञात बदमाशों द्वारा गोली मारने के बाद बदमाश फरार हो गए। वही घायल सिपाही की सूचना पर पहुंची पुलिस आनन-फानन में इलाज कराने के लिए अस्पताल ले गई। जहां खतरें से सिपाही बाहर बताया जा रहा है। घटना की जानकारी के बाद लोगों में दहशत का माहौल बना हुआ है। वही घटना के सम्बन्ध में पुलिस अभी तक कुछ बोलने से परहेज़ कर रही है। उक्त घटना के संबंध में विभाग से लेकर आम लोगों में तरह तरह की चर्चाएं सूनने को मिल रही है। लेकिन घटना के बीस घंटे बीतने के बाद भी पुलिस को कोई सुराग हाथ नहीं लगी है। वही पुलिस सीसीटीवी कैमरे के जरिए बदमाशों को खंगालने में जुटी है।
उल्लेखनीय हो कि रविवार के रात नौ बजे के आसपास तरयासुजान थाने पर तैनात मुंसी रविशंकर तिवारी और अपने सहयोगी सत्यम राय के साथ थाने से खाना खाने नेशनल हाईवे पर स्थित एक होटल पर जा रहे थे कि इसी दौरान सलेमगढ़ पेट्रोल पंप के आसपास अज्ञात बदमाशों ने पीछे बैठे सिपाही पर गोली चला दिया। जिसमें सिपाही के बाये बाजू को चिरते हुए पार हो गई। जैसा कि विभाग से लेकर आम लोगों में चर्चा है। घटना के बाद घायल सिपाही को सबसे पहले इलाज के लिए टोल प्लाजा सलेमगढ़ के उपचार केंद्र पर फर्स्ट टिटमेंट कराने के बाद पुलिसकर्मियों ने फिर सीएचसी तमकुहीराज के रास्ते जिला अस्पताल लेकर पहुंचे जहां सिपाही खतरे से बाहर है। उधर पुलिसकर्मियों पर गोली चलने की घटना जंगल मे आग के तरह फैल गयी। पुलिस अधिकारियों के साथ एसएचओ तरयासुजान के मोबाइल की घण्टी बजनी शुरू हो गयी और पुलिस उक्त घटना के बारे में कुछ बताने से परहेज़ करने लगी और कुछ देर बाद स्वाट टीम के साथ थाने की पुलिस लगातार नेशनल हाइवे और घटना स्थल के तरफ दौड़ने लगी और लोगों से घटना के बारे में अनभिज्ञता जताने लगी। इस दौरान तरयासुजान थाने पर तैनात एक दूसरे मुंशी पुलिसकर्मी का एक वीडियो घायल सिपाही के सम्बन्ध में सोमवार को सोसल मीडिया पर वायरल हो गया। जिसमें घटना होने की बात दबी जुबान से स्वीकार की गयी है। अब इस वीडियो के वायरल होने के बाद पुलिस घटना को लेकर खुद उलझती जा रही है। जिसका जवाब किसी के पास नहीं है।

पहले भी चौकी क्षेत्र में बदमाशों की गोली से शहीद हो गया एक सिपाही

बीते कुछ वर्ष पहले बहादुरपुर पुलिस चौकी क्षेत्र के सलेमगढ़ नोनिया पट्टी नेशनल हाईवे के पास बदमाशो ने पुलिसकर्मियों पर गोली चलाई थी जिसमें एक जवाज पुलिस कर्मी मार्कण्डेय मिश्र शाहिद हो गए थे। जबकि उनके सहयोगी किसी तरह भाग कर अपनी जान बचाई थी। जिस समय कुशीनगर के ‌लोकप्रिय पुलिस कप्तान दवा शेरपा ने घटना में सामिल बदमाशों को अपने पुलिस टीम के साथ ग्रामीणों के सहयोग से दो बदमाशों को भी मार गिराया था। लेकिन आज एक बार फिर वह घटना ताजी हो गयी।सब मिलाकर तरयासुजान थाना क्षेत्र के सलेमगढ़, बहादुरपुर, डिबनी, परसौनी, सिसवा बाजार, चखनी, लतवाचट्टी, दाहूगंज बाजार में बिहार के संदिग्धों के आवाजाही की बात आम है। और इन इलाकों में आजकल घटनाए रुकने की नाम नहीं ले रही है।

पुलिस पर गोली चलने के बाद लोगों में दहशत

सलेमगढ़ बहादुरपुर पुलिस चौकी क्षेत्र में रविवार को रात्रि में सिपाही के उपर गोली चलने की खबर के बाद लोग दहशत में हैं। और तरह तरह की कयासों का बाजार गर्म है लेकिन घटना के पीछे पुलिस भी सक्रियता के साथ खुलासे के मूड में लगी हुई है। और दुकानों में लगी सीसीटीवी कैमरे के रास्ते बदमाशों तक पहुंचना चाहती है।जो गर्भ गृह में है।अब देखना है कि पुलिस किस नतीजे पर कब पहुंचती है।

77730cookie-checkचौबीस घंटे बाद भी तरया सुजान पुलिस के हाथ नहीं लगा कोई सुराग